पानी की बर्बादी रोकने पर 50 करोड़ का खर्च


SHARE

मुंबई - बीएमसी द्वारा पानी की आपूर्ति के दौरान पर जलवाहिनी से बड़ी मात्रा में पानी की बर्बादी हो रही है। साथ ही पानी माफियाओं द्वारा पानी चोरी के मामले भी बढ़े हैं। जिसे रोकने के लिए बीएमसी द्वारा मुंबई उपनगर में बड़ी संख्या में कार्य हाथ में लिया है। जिसके लिए 50 करोड़ रुपया खर्च किया जाएगा। इस प्रस्ताव को स्थायी समिति में बुधवार को पेश किया जाएगा।

संपूर्ण मुंबई में हर रोज 3 हजार 750 दशलक्ष लीटर पानी सप्लाई की जाती है। जिसमें 650 दशलक्ष लीटर पानी की बर्बादी होती है। जबकि 140 दशलक्ष लीटर पानी चोरी किया जाता है। जिसे रोकने के लिए बीएमसी कार्य कर रही है।

बीएमसी के किस विभाग पर कितना खर्च?
-के पूर्व विभाग - 6 करोड़ 97 लाख रुपए
-पी उत्तर विभाग - 1 करोड़ 34 लाख रुपए
-एस विभाग - 5 करोड़ 92 लाख रुपए
-एन विभाग - 3 करोड़ 6 लाख रुपए
-के पश्चिम विभाग - 11 करोड़ 23 लाख रुपए
-आर उत्तर विभाग - 3 करोड़ 31 लाख रुपए
-एल विभाग - 7 करोड़ 90 लाख रुपये
-एम पूर्व विभाग - 6 करोड़ 7 लाख रुपए
-टी विभाग - 4 करोड़ 64 लाख रुपए

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें