30 से 50 साल तक वालो में बढ रही है दिल की बीमारियां

 Mumbai
30 से 50 साल तक वालो में बढ रही है दिल की बीमारियां

कुछ दिनों पहले एक अभिनेत्री की मौत स्टेज पर परफॉर्मेंस के दौरान ही हो गई थी। इस खबर ने पूरे फिल्म जगत को झकझोर कर रख दिया था। जब तक किसी को कुछ पता चलता की स्टेज पर क्या हुआ तब ये खबर आ चुकी थी की अभिनेत्री आश्विनी एकबोटे की हार्ट अटैक से मौत हो चुकी है। तो वही एक नीजी चैनल के कैमरामैन की मृत्यु हार्टअटैक से हो गई। इतना ही नही पर्यावरण राज्य मंत्री अनिल माधव दवे की मौत का कारण भी हार्ट अटैक ही थी। अभिनेत्री रिमा लागू की भी मौत हार्ट अटैक से हुई। गौरतलब है की इन सभी की मौत हार्ट अटैक से हुई।

क्या आपको पता है की हार्ट अटैक आने के कारण हमारे शरीर को क्या होता है? जिस समय हार्ट अटैक आता है उस समय आपका लेफ्ट हैंड काम करना बंद कर देता है। आपका ब्लडप्रेशर या तो एकदम ज्यादा हो जाता है या तो एकदम कम। आपके दिल की गति धीमी होने लगती है। अगर आपको हार्ट अटैक के दौरान तुरंत मेडिकल ट्रीटमेंट मिलता है तो आप की जान बच सकती है।
अगर हार्ट अटैक आनेवाले व्यक्ति के पास कोई अन्य व्यक्ति मौजूद हो तो उसे तुरंत पिड़ीत को सीपीआर यानी दिल पर पंपिग शुरु करनी चाहिए। पंपिग यानी आप पीड़ित व्यक्ति के दिल को जोर जोर से दबाए। पीड़ित व्यक्ति को मुंह से सांस देना शुरु करें। आयईडी शॉक मशीनके जरिए दिल पर दबाव बनाया जाए।

डॉ. अंकुर फातरपेकर , दिल की बीमारियों के विशेषज्ञ का कहना है की बदलते समय के कारण हमारे रहने और खानों के तरिको में भी बदलाव आया है। कई बार तो डॉक्टरो को भी नहीं समझ में आता की क्या हुआ है। बदलती जिवनशैली, खानों का गलत तरिका , तनाव, परेशानियां के कारण आपको दिल से जुड़ी कई बीमारियां हो सकती है।

डॉ. गौरी दातार, हृदय विषेशज्ञ का कहना है की कई बार लोगों को पता नहीं होता की हार्ट अटैक के समय किन किन बातों का ध्यान रखा जाना चाहिए अगर समय पर हार्ट अटैक के पीड़ित को इलाज मिले तो उसकी जान बच सकती है। इन सभी तरह के उपायो का प्रचार प्रसार होना चाहीए।



डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दें) 

Loading Comments