Advertisement

मां की डेडबॉडी को 8 महीने तक रखा घर पर, अब पता चला

पुलिस ने जब इस बाबत पड़ोसियों से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि, महिला के साथ उसकी मां भी रहती है, लेकिन लॉकडाउन (lockdown) के दौरान वह कभी नजर नहीं आई।

मां की डेडबॉडी को 8 महीने तक रखा घर पर, अब पता चला
SHARES

मुंबई (mumbai) के बांद्रा (bandra) इलाके से एक चौंकाने वाली खबर सामने आ रही है। खबर के अनुसार एक महिला पिछले 8 महीने से अपनी मां की डेडबॉडी (deadbody) के साथ घर पर ही रह रही थी। यानी महिला की मां की मौत 8 महीना पहले ही हो गयी थी, लेकिन महिला ने बॉडी को अपने घर पर ही रखा था।

56 वर्षीय इस महिला की मां की उम्र 87 साल थी, और 8 महीने पहले ही उसकी मौत हो चुकी है। बाद में यह बात किसी तरह से पुलिस को पता चली, जिसके बाद यह घटना सामने आई।

बताया जाता है कि, महिला अक्सर अपने घर का कचरा खिड़की से बाहर दूसरे के दरवाजे पर फेंक देती थी। इस बात को लेकर पड़ोसियों से महिला का झगड़ा भी हो चुका था। 

रविवार को भी महिला ने जब अपने घर का कचरा खिड़की से बाहर फेंका तो कचरा पड़ोसी के दरवाजे के सामने जा गिरा। आखिर अजीज आकर पड़ोसी ने इसकी शिकायत पुलिस में कर दी। पुलिस जब महिला के घर पहुंची तो, उन्हें महिला थोड़ी मानसिक रूप से कमजोर लगी। साथ ही उसका हावभाव भी अजीब लगा। 

यही नहीं महिला ने अपनी मां के शव को कपड़े से ढंका था, पुलिस को वहां शव होने का अंदेशा हो गया।

पुलिस ने जब इस बाबत पड़ोसियों से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि, महिला के साथ उसकी मां भी रहती है, लेकिन लॉकडाउन (lockdown) के दौरान वह कभी नजर नहीं आई।

पुलिस को पता चला कि, इस महिला की माँ की मौत लॉकडाउन में ही यानी 8 महीना पहले ही हो चुकी थी, लेकिन महिला ने इस बात की जानकारी किसी को नहीं दी।

इसके बाद फिर पुलिस महिला के घर गई, और डेडबॉडी बरामद की। पुलिस ने डेडबॉडी को कूपर अस्पताल भेज दिया। साथ ही पुलिस ने महिला के मानसिक स्थिति का पता लगाने के लिए भी महिला को अस्पताल में दाखिल करा दिया है। पुलिस इस बात का भी पता लगा रही है कि, वृद्ध महिला की मौत आखिर कैसे हुई?

साथ ही पुलिस को इस बात का भी पता चला कि, कुछ साल पहले महिला का एक पालतू कुत्ता भी मर गया था, लेकिन महिला ने उस कुत्ते के शव को भी अपने घर पर रखा था।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
Advertisement