COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
43,43,727
Recovered:
36,09,796
Deaths:
65,284
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
56,153
3,882
Maharashtra
6,41,596
57,640

लापता बच्चा लाईये, 250 रुपये पाईये!

जनवरी 2017 से सितंबर 2017 तक 773 बच्चों के लापता होने का मामला दर्ज हुआ। जिसमें से 567 बच्चों को खोजने में पुलिस कामयाब रही। इस हिसाब से हर रोज मुंबई में 5 बच्चे लापता होते है।

लापता बच्चा लाईये, 250 रुपये पाईये!
SHARES

मुंबई जैसे शहर में लापता बच्चों की संख्या दिन बा दिन बढ़ती जा रही है। कई लापता बच्चों को भिख मांगने के धंधे में भी लगा दिया जाता है। अगर समय रहते लापता बच्चों को नहीं खोजा जाए तो उनका भविष्य खराब हो सकता है। जिसके देखते हुए मुंबई पुलिस ने अब एक योजना तैयार की है। इस योजना के अंतर्गत लापता बच्चों को ढूंढनेवाले पुलिस कर्मचारियों को 250 रुपये इनाम और प्रमाणपत्र भी दिया जाएगा।


गुजरात में दलित को जला कर मारने वाला आरोपी मुंबई से हुआ गिरफ्तार


मुंबई में लापता होनेवाले बच्चों की संख्या दिन बा दिन बढ़ती जा रही है। कई बार बच्चों का अपहरण कर उन्हे गैरकानूनी धंधे में ढकेल दिया जाता है। जनवरी 2017 से सितंबर 2017 तक 773 बच्चों के लापता होने का मामला दर्ज हुआ। जिसमें से 567 बच्चों को खोजने में पुलिस कामयाब रही। इस हिसाब से हर रोज मुंबई में 5 बच्चे लापता होते है। लापता बच्चो को जल्द से जल्द ढूंढने के लिए पुलिस आयुक्त दत्ता पडसलगीकर ने एक खास बैठक बुलाई , इस बैठक में पुलिस के समाजसेवा के अधिकारी, स्थानिय पुलिस स्टेशन के बाल पथक के अधिकारी अपस्थित थे।


बीमारी से तंग आकर महिला सिपाही ने की आत्महत्या


इस बैठक में फैसला लिया गया की लापता बच्चो को ढूंढनेावले पुलिसकर्मी को 250 रुपये की इनामी राशि के साथ साथ प्रमाणपत्र भी दिया जाएगा। इसके साथ ही बच्चों को जल्द से जल्द ढूंढा जा सके इसके लिए शहर के सभी बाल पथक पुलिस अधिकारियों का एक वाट्सऐप ग्रुप भी बनेगा जहां वह बच्चों की डिटेल शेयर कर सकते है।

दलालों का एक लंबा जाल

दरअसल देश के कई अन्य राज्यों और बांग्लादेश से कई बच्चो को कुछ दलाल अच्छी जिंदगी और नौकरी का लालच देकर मुंबई लेकर आ जाते है और नमुंबई में आने के बाद उन्हे गैरकानूनी धंधे में फेंक दिया जाता है।

2017 में विशेष कार्रवाई

जून 2017 तक पुलिस कार्रवाई में 189 मामले दर्ज किए गए जिनमे से 179 लोगों को छोटे बच्चो को काम पर रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। इस मामले में 252 बच्चों को छुड़ाया गया। इसी प्रकार, 39 लोगों को बच्चों की धोखाधड़ी के लिए गिरफ्तार किया गया और उनके खिलाफ 35 मामले दर्ज किए गए हैं ।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें