महिला के फेसबुकिया फ्रेंड ने जो किया, उसे सुन कर किसी का भी दिल दहल जाए


महिला के फेसबुकिया फ्रेंड ने जो किया, उसे सुन कर किसी का भी दिल दहल जाए
SHARES

सोशल मीडिया में बनने वाले दोस्त कितना खतरनाक हो सकते हैं इसका जीता जागता उदहारण ओशिवारा में घटी एक घटना से सामने आया है। पुणे के एक नामी इंजीनियर कॉलेज में पढाई करने वाली नीतू (नाम बदला हुआ) को उसके एक फेसबुक दोस्त फिरोज ने न केवल उसका धर्म बदलने की कोशिश की बल्कि उसका रेप भी किया। आख़िरकार कैद में रखी गयी नीतू महीने बाद किसी तरह से फिरोज की चंगुल से भाग निकली और अपनी व्यथा पुलिस को बताई। शिकायत के बाद पुलिस ने फिरोज को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में फिरोज की मां के खिलाफ भी शिकायत की गयी है।

क्या है मामला?
कुछ महीने पहले नीतू की दोस्ती फेसबुक पर फिरोज उर्फ़ सैय्यद आमिर मंसूर हुसैन से हुई थी। दोस्ती प्रगाढ़ हो जाने के बाद एक दिन फिरोज ने नीतू को अपने घर पर खाने का आमंत्रण दिया। जब नीतू फिरोज के घर आई और खाना खाया तो फिरोज ने नीतू को रात रुकने का आग्रह किया। नीतू को सोने के लिए अलग से कमरा भी दिया गया।


पढ़ें: फेसबुकिया दोस्त महिला को पड़ गया भारी


चंगुल में फंसी 
जब सुबह नीतू सोकर जागी और उसने दरवाजा खोलना चाहा तो दरवाजा बाहर से बंद किया गया था। कई बार आवाज देने पर भी दरवाजा नहीं खुला। जब नीतू ने अपना मोबाइल से फोन करना चाहा तो मोबाइल भी गायब मिला। इसके बाद दोपहर के समय फ़िरोज नीतू के कमरे में आया और उसने नीतू के साथ बलात्कार किया। यही नहीं फिरोज ने नीतू की कई आपत्तिजनक वीडियो भी बनाया। नीतू भाग न सके, उसने उसके बाल काट दिया और उसके कपड़े भी फाड़ दिए और भागने पर उसके वीडियो को वायरल की भी धमकी दी जाती।

इस तरह भागी
नीतू ने पुलिस को बताया कि फिरोज के घर में कई बिल्लियां पाली गयी थी। एक बार कोई बिल्ली छत से नीचे गिर गयी थी, जिसके बाद फिरोज की मां ने बिल्ली लाने के लिए नीतू को छत पर भेजा, जिसके बाद नीतू वहां से भाग निकली और नजदीकी ओशिवारा पुलिस स्टेशन में इसकी शिकायत की।

सुनाई दर्द की दास्तां 
नीतू ने पुलिस को अपने बयान में बताया कि उसे महीनों बंद कमरे में रखा गया और रेप किया गया। यही नहीं उससे जबरन नमाज भी पढ़वाई जाती थी, भाग न सके इसीलिए उसके कपड़े फाड़ दिए गए। फिरोज की मां उसे फिरोज के कपडे पहनने को देती थी।

ओशिवारा पुलिस ने शिकायत फिरोज को गिरफ्तार कर लिया है. फिरोज को कोर्ट ने 10 सितंबर तक पुलिस कस्टडी में रखने का आदेश दिया है।

पढ़ें: फेसबुकिया दोस्ती पड़ी महंगी, महिला से ठग लिए लाखों

Read this story in मराठी
संबंधित विषय