मरीजों से अधिक पैसा वसूल करने पर नानावटी अस्पताल पर हुआ केस दर्ज

शिकायत में कहा गया है कि अस्पताल जानबूझकर रात में टेस्ट करता था, ताकि डाक्टरों, पीपीई किट और दवाओं के नाम पर अधिक शुल्क वसूल सके।

मरीजों से अधिक पैसा वसूल करने पर नानावटी अस्पताल पर हुआ केस दर्ज
SHARES

कोरोना वायरस (Coronavirus) के मरीजों से अतिरिक्त पैसा वसूलने के आरोप में नानावटी अस्पताल (nanavati hoslital) के खिलाफ सांताक्रूज पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है। यह शिकायत BMC के अधिकारियों द्वारा दर्ज कराई गई। शिकायत बुधवार रात को दर्ज कराई गई। इस बारे में पुलिस उपायुक्त अभिषेक त्रिमुखे ने कहा कि सांताक्रूज पुलिस स्टेशन में IPC 188 के उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया है।

सांताक्रूज पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ निरीक्षक श्रीराम कोरेगांवकर ने बुधवार ने बताया कि BMC के अडिशनल एडिटर रामचंद्र कोबरेकर द्वारा बुधवार को यह एफआईआर दर्ज कराई गई। कोबरेकर बीएमसी के के-वेस्ट वार्ड में काम करते हैं।

वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक श्रीराम कोरेगांवकर ने मुंबई लाइव को बताया कि, अस्पताल के खिलाफ  दर्ज की गई एफआईआर दर्ज की है। पुलिस ने अस्पताल के ट्रस्टी, अध्यक्ष और डॉक्टरों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के धारा 188 (लोक सेवक द्वारा विधिवत आदेश देने के आदेश की अवहेलना) के तहत मामला दर्ज किया था।

पुलिस ने कहा कि BMC अधिकारियों के साथ एक मरीज की भी शिकायत दर्ज की गई है,जिसमें अस्पताल पर पीपीई किट, दवाइयों और टेस्ट के लिए अधिक पैसे वसूलने का आरोप लगाया गया है।

शिकायत में कहा गया है कि अस्पताल जानबूझकर रात में टेस्ट करता था, ताकि डाक्टरों, पीपीई किट और दवाओं के नाम पर अधिक शुल्क वसूल सके।कोरेगांवकर ने कहा, "हमने जांच शुरू कर दी है। जो भी जरूरी होगा हम कार्रवाई करेंगे।

जबकि इस मामले में नानावटी अस्पताल ने भी सफाई पेश करते हुए बयान जारी किया है। अस्पताल ने कहा कि, हमें मीडिया रिपोर्टों से पता चला है कि अस्पताल के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उनकी तरफ से आगे कहा गया है कि, एक बिल में कुछ विसंगति के कारण प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। हम बिल की जांच करने के लिए शिकायत की कॉपी का इंतजार कर रहे हैं और इस मुद्दे के निवारण के लिए संबंधित अधिकारियों के साथ पूरा सहयोग करेंगे।"

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय