दुर्घटना या हत्या... कैसे सुलझेगी पहेली?

 Mumbai
दुर्घटना या हत्या... कैसे सुलझेगी पहेली?

मेरा बेटा दुर्घटना में नहीं मरा है, उसकी हत्या की गयी है ऐसा आरोप लगाते हुए दहिसर में रहने वाले नफीस अहमद ने मुख्यमंत्री को आवेदन देकर इसकी सीआईडी जांच कराने की मांग की है।
खबर के मुताबिक नफीस अहमद दहिसर पूर्व पुष्पविहार कॉलोनी में अपने परिवार के साथ रहते हैं। उनका लड़का वाशिद ऑटोरिक्शा का मैकेनिक था। साथ ही वह लोगों को भाड़े पर ऑटोरिक्शा चलाने के लिए देता था। उसने अपने दो मित्रों को ऑटोरिक्शा चलाने के लिए दिया था। कई दिनों से उन दोनों ने भाड़ा नहीं दिया था। उधार लिया पैसा भी नहीं दे रहे थे। 25 मार्च को वह अपने मित्रों के साथ पास के अम्बावाडी में घूम रहा था। 26 मार्च को वाशिद के चचेरे भाई के मोबाइल पर उनके दोस्त का फोन आया और कहा कि हम लोग हाइवे पर हैं हमारे ऑटोरिक्शा का एक्सीडेंट हो गया वासिद के सिर में चोट लगी है, उसे कांदिवली पश्चिम शताब्दी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

यह भी पढ़ें - राममंदिर पर हादसा मतलब...मुक्ति मिलनी तय

वासिद के पिता का कहना है कि वाशिद के सिर के पीछे चोट लगी थी और उसके हाथ पर चटका देने का निशान था। जब उन लोगों से पूछा कि तुम लोगों को खरोच नहीं आयी और इसको इतना कैसे लगा। इसका उन लोगों ने कोई संतोषपूर्ण उत्तर नहीं दिया। 30 मार्च को वाशिद की मौत हो गयी। जब उसके पिता ने गोरेगांव जाकर ऑटोरिक्शा को देखा तो ऑटो का एक हिस्सा घिसा हुआ दिखा, उसके पलटने का निशान नहीं था जबकि इन लोगों का कहना था कि डम्पर से टक्कर हुई थी। आरे पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है। वहीं मृतक के पिता नफीस अहमद ने मुख्यमंत्री,पुलिस आयुक्त और राज्य मानवाधिकार आयोग को आवेदन देकर सीआईडी से जांच कराने की मांग की है।

डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 

Loading Comments