महाराष्ट्र बंदी: सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट कर सामाजिक सद्भाव बिगाड़ने वालों पर होगी कार्रवाई

अब पुलिस ने ऐसे लोगों को चिन्हित किया है जिन्होंने बंद के दौरान सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट किया और अफवाह फ़ैलाने में मदद की। अब पुलिस इन पर कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है।

SHARE

भीमा कोरेगांव हिंसा के विरोध में कई दलित संगठनों ने 'महाराष्ट्र बंद' की घोषणा की थी। इस बंद से राज्य भर में व्यापक प्रभाव पड़ा था।पथराव, तोड़फोड़, सड़क और रेल जाम, आगजनी की कई घटनाओं से सरकारी संपत्तियों सहित कुल 3000 हजार करोड़ रूपये का नुकसान हुआ था। यही नहीं इस बंद में अफवाह फ़ैलाने के लिए सोशल मीडिया का भी सहारा लिया गया। अब पुलिस ने ऐसे लोगों को चिन्हित किया है जिन्होंने बंद के दौरान सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट किया और अफवाह फ़ैलाने में मदद की। अब पुलिस इन पर कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है।


सोशल मीडिया के जरिये फैली अफवाह

एक पुलिस विभाग के अधिकारी ने कहा कि 'बंद' वाले दिन सुबह 11 बजे से लेकर 12 तक बंद का आंशिक असर ही था लेकिन उसके बाद अचानक कई स्थानों से हिंसा की खबरें आने लगी। पुलिस ने बताय कि इसका कारण सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, वाट्सएप्प में सामाजिक भावनाओं को भड़काने वाले पोस्ट किए जाने लगे, जिससे लोग भड़क गए। इसके बाद अचानक हिंसा भड़क उठी।


यह भी पढ़ें : भीमा कोरेगांव हिंसा - पुलिस ने 120 लोगों पर दर्ज किया मामला !


50 पोस्ट किये गए हैं चिन्हित

पुलिस अधिकारी ने आगे बताया कि पुलिस ने सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वाले ऐसे 50 पोस्ट को चिन्हित किया है जो आपत्तिजनक हैं। इन पोस्ट को शेयर कर सामाजिक भावना भड़काने की कोशिश की गयी। पुलिस अधिकारी ने बताया कि ऐसे लोगों पर कार्रवाई की जायेगी।


यह भी पढ़ें : पुणे हिंसा : मुंबई में 100 से भी अधिक आंदोलनकारी पुलिस हिरासत में, मुंबई की सुरक्षा बढ़ाई गयी


'आपत्तिजनक पोस्ट न करें'

पुलिस ने लोगों से सोशल मीडिया का दुरूपयोग नहीं करने की अपील लोगो से की है। पुलिस के अनुसार ऐसे कोई भी पोस्ट, वीडियो या फोटो फॉरवर्ड न करें, लाइक न करें, शेयर न करें, कमेंट न करें जो आपत्तिजनक हो और सामाजिक सद्भाव बिगाड़ सकते हों। पुलिस ने बताया कि साइबर सेल आपत्तिजनक पोस्ट पर निगरानी रख रही है। पकडे जाने पर कार्रवाई हो सकती है।


संबंधित विषय
ताजा ख़बरें