ऐसी क्या मजबूरी..? जो बहन के लिए भाई बनें लुटेरे

गोरेगांव पूर्व - आरे कॉलोनी पुलिस स्टेशन में 7 मार्च को सज्जन यादव ने शिकायत दर्ज कराई थी कि उसकी कार रोक कर अज्ञात मोटर साइकिल सवार बदमाशों ने 9 लाख रुपये से भरा बैग और मोबाइल फोन बन्दूक की नोक पर छीन लिया। सज्जन यादव एक रेलवे ठेकेदार के पास काम करता है, सज्जन यादव 6 मार्च को अपने मालिका के 9 लाख रुपये लेकर गोरेगांव पश्चिम जाने के लिए कार से निकाला था, लेकिन आरे यूनिट न. 32 के पास उसकी कार अज्ञात लोगों ने रोक कर लूट लिया। ऐसी शिकायत सज्जन यादव ने पुलिस में दर्ज कराई थी। आरे पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू किया तो सज्जन ही इस मामले का मास्टर माइंड वही निकला। 

डीसीपी किरण कुमार चव्हाण के मार्गदर्शन में पुलिस की टीम ने जब कड़ाई से पूछताछ किया तो सज्जन यादव ने अपना अपराध कबूल कर लिया। सज्जन यादव ने बताया कि गांव में वह अपनी बहन की शादी कराने हेतु अपने मालिक का पैसा लूटने का प्लान, अपने छोटे भाई ललन काशी यादव के साथ मिलकर बनाया था। पुलिस ने सज्जन यादव और ललन यादव को गिरफ्तार कर उनके पास से लूट के 8 लाख, 75 हजार रुपये जब्त किया है।

Loading Comments