कोर्ट में जज के सामने जानलेवा हमला, फैसले से था नाराज हमलावर

सुरक्षा में भारी खामी हुई उजागर

कोर्ट में जज के सामने जानलेवा हमला, फैसले से था नाराज हमलावर
SHARES

भोइवाड़ा कोर्ट में बुधवार दोपहर जो घटना घटी वह किसी फ़िल्मी सीन सरीखा था। भरी कोर्ट में ही शिकायतकर्ता हरिश्चंद्र शिरकर नामके एक शख्स ने दो आरोपियों पर जानलेवा हमला कर दिया। इस घटना से कोर्ट में हड़कंप मच गया। बताया जाता है कि कोर्ट ने आरोपियों को बरी कर दिया था जिससे नाराज हरिश्चंद्र शिरकर ने इस घटना को अंजाम दिया।

क्या है मामला?

साल 2009 में दादर पुलिस स्टेशन में दर्ज धारा 324 (हथियार से हमला) के एक मामले को लेकर भोईवाड़ा कोर्ट में बुधवार को सुनवाई थी।इस मामले में पुलिस ने हरिश्चंद्र शिरकर सहित नंदेश कडवालकर आणि महेश म्हप्रकार को गिरफ्तार किया था।

भरी कोर्ट में किया हमला

बुधवार को इस मामले में सजा की सुनवाई होनी थी। सुनवाई में कोर्ट ने आरोपी नंदेश कडवालकर और महेश म्हप्रकार को निर्दोष साबित कर दिया। फैसले से नाराज हरिश्चंद्र शिरकर ने जज के सामने ही चाक़ू से दोनों आरोपियों पर हमला कर दिया जिससे दोनों घायल हो गये।दोनों को केईएम अस्पताल में दाखिल कराया गया है।

सुनवाई से पहले आरोपियों ने चिढ़ाया था

पता चला है कि सुनवाई से पहले दोनों आरोपियों ने शिकायतकर्ता हरिश्चंद्र शिरकर को चिढ़ाते हुए कहा था कि वे दोनों छुट जाएंगे। जब  दोनों छुट गये तो इसी बात पर हरिश्चंद्र शिरकर नाराज हो गया और उसने हमला कर दिया। हरिश्चन्द्र को पुलिस ने मौके से गिरफ्तार कर लिया।

सुरक्षा पर उठे सवाल

भरी कोर्ट में इस तरह से जज के सामने चाक़ू से हमला करना सुरक्षा में भारी खामी को उजागर करता है। आखिर हरिश्चन्द्र हथियार लेकर कोर्ट में कैसे दाखिल हुआ यह एक जांच का विषय है?



Read this story in मराठी or English
संबंधित विषय