हाईटेक तरीके से चोरी करने वाला गिरोह का हुआ भंडाफोड़


SHARE

मालवणी पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का भंडाफोड़ किया है जो लोगों के डेबिट कार्ड की जानकारी हासिल कर एटीएम के द्वारा खाते से पैसे निकाल लेते थे।  इस मामले में पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस को इनके पास से 51 स्वाइप मशीन, 2 लैपटॉप और 65 नकली डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड सहित सैकड़ों की संख्या में विभिन्न बैंकों के चेक बुक मिले है। पुलिस के मुताबिक इनके निशाने पर मुख्य रूप से विदेशी पर्यटक होते थे।

इस तरह हुआ खुलासा 
क्राइम ब्रांच के प्रॉपर्टी सेल को सूचना मिली थी कई मालवणी इलाके में ही रहने वाला एक दूकानदार डेबिट और क्रेडिट कार्ड का क्लोन तैयार करके पैसा चुपके से निकालने का कार्य करता है। सूचना के आधार पर पुलिस ने दूकानदार हसन शेख को गिरफ्तार किया। हसन शेख से पूछताछ के बाद ही पुलिस को इस गिरोह के बारे में पता चला।
 

इस तरह करते थे चोरी 
मालवणी पुलिस के मुताबिक इस गिरोह के निशाने पर मुख्यरूप से विदेशी नागरिक होते थे जो भारत में घूमने आते थे और कार्ड के जरिये शॉपिंग करते थे। ये लोग दुकानदार को 20 फीसदी चोरी के माल से कमीशन देने का लालच देकर उससे स्वाइप मशीन ले लेते थे और कार्ड की सारी डीटेल्स उसमे से हासिल कर लेते इसके बाद कार्ड का क्लोन तैयार कर किसी एटीएम से पैसे निकाल लेते थे।


गिरोह का हुआ भंडाफोड़ 
इस गिरोह ने गोवा, बैंगलोर, जयपुर, हिमाचल, लुधियाना, चंडीगढ़, कुल्लू-मनाली जैसे स्थानों पर अनेक विदेशियों को अपना निशाना बनाया। चौंकाने वाली बात यह है कि इनके कारनामों की एक भी शिकायत पुलिस से नहीं की गयी थी। यही नहीं इस गिरोह का मुख्य सरगना जुबैर सय्यद (30) मूल रूप से बंगलौर का रहने वाला है जो मुंबई के मीरा रोड में अब रहता है। पुलिस ने इसके साथ हसन शेख (40), फहीम शेख (30), अबू बकर (45) और मुकेश शर्मा (45) को गिरफ्तार किया।

यह भी पढ़ें: खार इलाके में मिली बुजुर्ग दंपत्ति की लाश, पुलिस जांच में जुटी

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें