कांग्रेस नेता बाबा सिद्दीकी की संपत्ति सीज, मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत ईडी ने की कार्रवाई!

बाबा सिद्दीकी और पिरामिड डेवलपर्स को बांद्रा रिक्लेमेशन में झुग्गी पुनर्विकास योजना से संबंधित धोखाधड़ी के मामले में ईडी द्वारा केस दर्ज किया गया है।

SHARE

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने मुंबई में कांग्रेस नेता बाबा सिद्दीकी और पिरामिड डेवलपर्स की करीब 462 करोड़ रुपये मूल्य के 33 फ्लैट सीज किए हैं। यह मामला पिरामिड डेवलपर्स द्वारा बांद्रा में एक झोपड़ी, जमात-ए-जमहूरिया के पुनर्विकास में कथित अनियमितताओं से संबंधित है।ED का कहना है कि यह कार्रवाई मुंबई के बांद्रा इलाके में झोपड़पट्टी पुनर्वास योजना में कथित गड़बड़ियों और मनी लॉन्ड्रिंग की जांच के सिलसिले में की गई है।


संजय निरुपम को रिलायंस ने भेजा 1000 करोड़ रुपए का मानहानि का नोटिस


क्या है मामला

पिरामिड डेवलपर्स ने इस योजना में अतिरिक्त फ्लोर स्पेस इंडेक्स एफएसआई पाने के लिए फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल किया। जिसके बाद ईडी ने इस मामले में मनी लॉन्ड्रिंग निरोधक कानून (पीएमएलए) के तहत आपराधिक मामला दर्ज किया। बाबा सिद्दीकी पर आरोप है कि 2000 से 2004 तक जब वह झोपड़पट्टी पुनर्वास योजना (SRA) के चेयरमेन थे तब उन्होंने अपने पद का गलत इस्तेमाल कर मुंबई के पॉश बांद्रा इलाके का प्रोजेक्ट अपने जान पहचान वाले बिल्डर पिरामिड डेवलेपर को दे दिया था।


सायन प्रतिक्षानर में हुए बीएमसी उपचुनाव में शिवसेना विजयी

मुंबई पुलिस भी कर चुकी है जांच
जांच में सामने आया कि यह प्रोजेक्ट गलक तरीके से दिया गया है औऱ यह घोटाला करीब 2000 करोड़ का है। 2014 में मुंबई पुलिस ने भी इस मामले में एफआईआर दर्ज कर जांच भी की थी। वहीं जांच एजेंसी को आशंका है कि बाबा सिद्दीकी और पिरामिड डेवलपर ने 2000 हजार करोड़ रुपए को गलत तरीके से विदेश भेजा है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें