Pmc bank scam: ईडी ने विवा समूह की 34 करोड़ की संपत्ति किया अटैच

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पंजाब और महाराष्ट्र सहकारी बैंक (PMC) घोटाले के संबंध में विवा समूह (Viva group) से संबंधित 34.36 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है।

Pmc bank scam: ईडी ने विवा समूह की 34 करोड़ की संपत्ति किया अटैच
SHARES

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पंजाब और महाराष्ट्र सहकारी बैंक (PMC) घोटाले के संबंध में विवा समूह (Viva group) से संबंधित 34.36 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है। यह संपत्ति विधायक हितेंद्र ठाकुर (mla hitendra thakur) की है।

पीएमसी बैंक (PMC bank) से ऋण लेकर उसकी हेराफेरी करने के आरोप में कुछ उद्योग समूह ईडी की रडार पर हैं। इसी सिलसिले में ईडी ने पिछले महीने विवा समूह के कार्यालयों और ठाकुर बंधुओं के घरों पर छापा मारा था। अब ईडी ने अंधेरी पूर्व में स्थित विवा की कैलेडोनिया इमारत को जब्त कर लिया है। यह संपत्ति मैक स्टार (Mack star) नामक कंपनी द्वारा इसका निर्माण किया गया है।

बता दें कि मैक स्टार, हाउसिंग डेवलपमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (HDIL) की सहायक कंपनी है। पीएमसी बैंक घोटाले में HDIL सबसे बड़ी ऋणी कंपनी है। ईडी की जांच में पता चला है कि एचडीआईएल, मैक स्टार और वीवा ग्रुप की मिलीभगत थी। जिसके बाद ED ने अंधेरी में स्थित इस संपत्ति को अटैच कर लिया है।

एचडीआईएल के राकेश और सारंग वाधवान ने अंधेरी में मैक स्टार की संपत्ति को अवैध रूप से विवा समूह में शामिल कर लिया। इसमें 34.36 करोड़ रुपये के दो ऑफिस भी शामिल हैं। राकेश वाधवान ने एचडीआईएल के जरिये विवा समूह के निदेशक मेहुल ठाकुर को बड़ी राशि दी। एचडीआईएल ने यस बैंक से भी लोन लेकर उसमें भी हेराफेरी की है। ईडी के अनुसार, एचडीआईएल (HDIL) और वीवा ग्रुप द्वारा इन सभी कर्ज का दुरुपयोग किया गया था।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें