SHARE

उद्योगपति मुकेश अंबानी की रिलायंस समूह से संबंधित ईशा बिल्डटेक और ईशा इंफ्राटेक कंपनी के पूर्व संचालक मुकेश शाह (57) पर आरोप लगा है कि इन्होने 17 करोड़ रुपए की हेराफेरी की है। इस मामले में कफ परेड पुलिस ने शाह और उसकी प्रेमिका महबूबा खान (56) के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए मंगलवार को गिरफ्तार किया। 

क्या था मामला?
बताया जाता है कि साल 1988 में मुकेश शाह ईशा बिल्डटेक के संचालक पद से सेवानिवृत्त हुए। इसके बाद साल 2012 में ईशा इंफ्राटेक की जिम्मेदारी इन्हें सौंप दी गयी। घाटकोपर में अपनी पत्नी के साथ रहने वाले शाह के पास उस दौरान उस बिल्डिंग की मरम्मत का काम आ गया जिस बिल्डिंग में उद्योगपति मुकेश अंबानी अपने परिवार के साथ रहते थे। शाह पर आरोप है कि इसी बिल्डिंग की मरम्मत के लिए जो पैसे खर्च हुए उसमें शाह में 17 करोड़ रूपये की हेराफेरी की है।

इसके बाद शाह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया और सितंबर 2018 में वह अपनी प्रेमिका के घर मीरा रोड में छुप कर रहने लगा। लेकिन शाह की पत्नी को यह बात नहीं मालुम थी इसीलिए उसने घाटकोपर पुलिस ने शाह में मिसिंग होने की रिपोर्ट दर्ज कराइ।   

अचानक शाह के गायब होने से रिलायंस समूह के अधिकारियों को भी संदेह पैदा हुआ। यही नहीं कंपनी द्वारा किये गए ऑडिट में शाह द्वारा किये गए 17 करोड़ के हेराफेरी का भी खुलासा हो गया। कंपनी की तरफ से कफ परेड पुलिस में शाह के खिलाफ फ्रॉड का केस दर्ज कराया गया। जांच के दौरान पुलिस को शाह का मीरा रोड में छुपे होने की खबर मिली, जिसके बाद शाह को उसकी प्रेमिका के साथ धर लिया गया। 

पूछताछ में शाह ने पुलिस के सामने खुलासा करते हुए बताया कि उसने अपनी प्रेमिका के लिए ही पैसों की हेराफेरी की। पुलिस को शाह की प्रेमिका के घर में से 75 लाख रुपये कैश भी मिले। 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें