गर्भपात संबंधी दवाओं को अवैध रूप से बेचने पर 14 लोगों पर हुई कार्रवाई

औषध नियंत्रक प्राधिकारी व सहआयुक्त दा.रा गहाणे ने बताया कि, कुल 348 जगहों का निरीक्षण किया गया। इस संबंध में कुल 14 मामले दर्ज किए गए हैं और 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

गर्भपात संबंधी दवाओं को अवैध रूप से बेचने पर 14 लोगों पर हुई कार्रवाई
SHARES

फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) ने मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी किट (Medical Termination of Pregnancy Kit) के दुरुपयोग के बहाने 26 जून 2021 से 9 जुलाई 2021 तक राज्य भर के थोक विक्रेताओं, खुदरा विक्रेताओं और गर्भपात अस्पतालों में छापेमारी की है। औषध नियंत्रक प्राधिकारी व सहआयुक्त दा.रा गहाणे ने बताया कि, कुल 348 जगहों का निरीक्षण किया गया। इस संबंध में कुल 14 मामले दर्ज किए गए हैं और 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

जांच से पता चला कि कुछ खुदरा विक्रेता अवैध रूप से गर्भपात दवाएं (MTP kit) प्राप्त कर रहे थे और कुछ बढ़ी हुई दरों पर बेच रहे थे। उनके अनुसार, नकली खुदरा विक्रेताओं को अवैध रूप से संबंधित खुदरा विक्रेताओं को बिना किसी पर्चे के और बिना बिल के, बढ़े हुए दरों पर गर्भपात की दवाएं बेचते हुए पकड़ा गया था। इनके पास से कुल 47,378 मूल्य का मादक पदार्थ जब्त किया गया और इनके खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई।

मुंबई, ठाणे, पुणे, नागपुर, नासिक, अमरावती और औरंगाबाद में ऐसे कुल 13 खुदरा विक्रेताओं को के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

साथ ही मुंबई के पश्चिमी उपनगर के एक अस्पताल में एक डॉक्टर के खिलाफ गर्भपात के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवा का खुलासा करने में विफल रहने के लिए भी मामला दर्ज किया गया है।

मामले में अब तक 11 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है और पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है।  लजांच में गम्भीर गड़बड़ी पाये जाने वाले 42 फुटकर विक्रेताओं एवं थोक विक्रेताओं को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है और प्रशासन आगे की कार्रवाई कर रहा है।

तो ऐसे में प्रशासन की ओर से सभी दवा विक्रेता और लाइसेंस प्राप्त संस्था से एमटीपी किट खरीदने और दवा को केवल डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन पर ही बेची जाने संबंधी सुझाव दिए गए हैं।

औषधि प्रशासन विभाग ने भी सभी संबंधितों से अपील की है कि अवैध रूप से गर्भपात की दवाएं लिए बिना विशेषज्ञ चिकित्सक की सलाह पर इलाज कराएं।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें