चेंबूर आग मामले में रिलायंस रियल्टर्स के तीन लोगों पर केस दर्ज


SHARE

दिसंबर महीने में 27 तारीख को चेंबूर के सरगम सोसायटी में आग लग गयी थी। अब उस मामले में पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा करते हुए तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक इमारत का फायर सिस्टम तो काम नहीं कर रहा था साथ ही 15वें मंजिल पर स्थित रिफ्यूजी एरिया में बने पैसेज को दिवार उठा कर बंद कर दिया गया था। यह पैसेज बी और सी विंग को जोड़ने का काम करता था। अगर यह पैसेज बंद नहीं होता तो लोग आसानी से पैसेज के जरिये एक जगह से दुसरे जगह जा कर अपनी जान बचा सकते थे।

बिल्डर की लापरवाही आई सामने  
जिस सरगम सोसायटी में आग लगी थी उस इमारत के पुनर्विकास का काम साल 2006 में में. रिलायंस रियल्टर्स के हेमेंद्र मापारा, सुभक मापारा और कोठारी ने किया था। यही नहीं ओसी नहीं होने के बाद भी बिल्डर ने साल 2014 में लोगों को रहने के लिए फ्लैट बेच दिया। जबकि समय-समय पर बिल्डिंग में रहने वालों ने फायर सिस्टम के सन्दर्भ में बिल्डर से शिकायत भी की लेकिन बिल्डर की तरफ से कोई ध्यान नहीं दिया गया।


पढ़ें: चेंबूर में इमारत में लगी आग , 5 लोगों की मौत


तीन लोगों पर हुआ केस दर्ज 
सूत्रों एक मुताबिक़ जांच में इस बात का भी खुलासा हुआ कि 15वीं मंजिल पर स्थित  रिफ्यूजी एरिया में 665 स्क्वायर फीट के फ़्लैट को बना कर हेमेंद्र मापारा, सुभक मापारा व कोठारी ने 18 लाख रुपए में बेच दिया था। इसीलिए सरगम सहकारी गृहनिर्माण संस्था के सचिव विवेकानंद वायगंणकर की शिकायत पर तिलक नगर पुलिस ने इन तीनों के खिलाफ केस दर्ज किया है। आपको बता दें कि इस आग में 5 बुजुर्गों की मौत हो गयी थी जिसमें महिला भी शामिल थी।

पढ़ें: चेंबूर आग हादसा: बिल्डर के खिलाफ केस हुआ दर्ज

संबंधित विषय