SHARE

एक ही स्कूल और एक ही कक्षा में पढ़ने वाली 5 स्कूली बच्चियों के गायब होने की सनसनीखेज घटना सामने आई है। ये सभी बच्चियां फोर्ट के एक कान्वेंट स्कूल में कक्षा 8वीं की छात्रा थीं। बच्चियों के परिजनों ने कुलाबा स्कूल में इन छात्राओं के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करा दी है, जिसके आधार पर पुलिस इन्हे ढूंढने के प्रयास में जुट गयी हैं।


क्या था मामला?
मिली जानकारी के अनुसार कुछ दिन पहले ही स्कूल में तिमाही परीक्षा का आयोजन किया गया था। जिसमें इन पांचों छात्राओं का नंबर काफी कम आया था जिसकी वजह से ये सभी तनाव में थीं और इसी शुक्रवार को स्कूल में ओपन डे (टीचर-पैरेंट्स मीटिंग) का भी आयोजन किया गया था जिसमें सभी स्कूल के बच्चे और उनके पैरेंट्स भी आए हुए थे। इस मीटिंग में इनके पैरेंट्स और टीचरों ने बच्चियों को मिले मार्क्स पर भी चर्चा की थी।

स्कूल की छुट्टी हुई तो ये पांचों घर नहीं जाकर मरीन ड्राइव चली गयीं। इनके मरीन ड्राइव जाने की सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस को मिली है, लेकिन उसके बाद इन पांचों का कोई अता पता नहीं चल रहा है।

फ़िलहाल पुलिस ने इन सभी की फोटो मुंबई और आसपास के पुलिस स्टेशनों को भेज दिया है और इनके बारे में जानकारी हासिल करने को कहा गया है।

स्कूल प्रशासन की तरफ से बताया गया कि शुक्रवार को पैरेंट्स मीटींग के लिए स्कूल में आये हुए थे। उस मीटिंग में इन बच्चियों के पैरेंट्स भी शामिल हुए थे। लेकिन इन बच्चियों को कम नंबर मिले इस बात को लेकर किसी ने भी बच्चियों को कुछ भी नहीं कहा। स्कूल की तरफ से पुलिस को हर प्रकार का सहयोग किया जा रहा है।

इस तरह मिलीं लकड़ियां

परीक्षा में कम नंबर आने के कारण गायब हुई नाबालिग पांचों लकड़ियों को ढूंढ निकाला गया है। इन्हे उस वक्त देखा गया जब ये पांचों कुर्ला स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार कर रही थीं। शनिवार शाम तक कुलाबा पुलिस ने इन्हे अपने कब्जे में ले लिया। इन्होने पुलिस को बताया कि 'मुंबई दर्शन' कर रहीं थीं।

कुलाबा पुलिस ने बताया कि स्कूल से निकलने के बाद ये लड़कियां पहले हैंगिंग गार्डन गयीं और उसके बाद मरीन ड्राइव आईं। यहां से इन्होने एक टैक्सी हायर किया और ठाणे गयीं। कर फिर वहां से टैक्सी करके वापस कुर्ला आईं। इसके बाद इन्हे कुर्ला में ट्रेन का इंतजार करते हुए पकड़ लिया गया। इन लड़कियों ने बताया कि इन्होने रात भर घूम घूम कर मुंबई दर्शन किया। 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें