बिग बॉस और रोडीज के विजेता प्रिंस नरूला के नाम पर फ्रॉड करने वाला हुआ गिरफ्तार

कृष्णकुमार शर्मा कोलकाता के अलीपुर के निवासी हैं। मुंबई के परेल इलाके में रहने वाले शिकायतकर्ता का बेटा प्रसाद एक उभरता हुआ मॉडल और संगीत कलाकार है।

बिग बॉस और रोडीज के विजेता प्रिंस नरूला के नाम पर फ्रॉड करने वाला हुआ गिरफ्तार
SHARES

बिग बॉस और रोडीज के विजेता प्रिंस नरूला के नाम पर 5 लाख रुपये की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। इस मामले में मामले के आरोपी कृष्ण कुमार शर्मा को गिरफ्तार किया गया है। शर्मा खुद को संगीत निर्देशक के रूप में अपनी पहचान बताता था।  और इसी झूठ के सहारे उसने पीड़ित को अपने जाल में फंसाया था।

कृष्णकुमार शर्मा कोलकाता के अलीपुर के निवासी हैं। मुंबई के परेल इलाके में रहने वाले शिकायतकर्ता का बेटा प्रसाद एक उभरता हुआ मॉडल और संगीत कलाकार है।

बैंगलोर में एक कार्यक्रम के दौरान, राज नाम के एक परिचित ने प्रसाद को कोलकाता के आरोपी कृष्ण कुमार से निर्माता कह कर मिलवाया था।उस वक्त शर्मा ने उनसे म्यूजिक एल्बम बनाने के नाम पर प्रसाद से 5 लाख रुपये यह कह कर लिया कि म्यूजिक एल्बम जारी होने के बाद वह वापस प्रसाद को 5 के बदले सात लाख रुपये लौटा देगा।

लेकिन पैसे लेने के बाद शर्मा प्रसाद से मिलने के लिए आनाकानी करने लगा। उसने अपना फोन नंबर भी बंद कर दिया। इसके बाद प्रसाद को यह महसूस हुआ कि शर्मा ने उसके साथ धोखा दिया है। यह बात प्रसाद ने अपनी मां को बताया जिसके बाद लड़के की मां शीतल मोर ने पुलिस ने मामला दर्ज कराया। बताया जाता है कि आरोपी कृष्ण कुमार शर्मा इवेंट मैनेजर है और इस ठगी में उसने प्रिंस नरूला के नाम का गलत इस्तेमाल किया।

पीड़ित के मुताबिक, शर्मा ने प्रसाद को लालच दिया था कि वह अमेरिका में प्रिंस नरूला के साथ एक एल्बम कर रहे हैं, जिसके लिए उन्हें 15 लाख रुपये की जरूरत है। यदि वह उसे 5 लाख रुपये देगा तो उन्हें वापसी के रूप में 7 लाख रुपये का भुगतान किया जाएगा। प्रसाद को इस बात पर विश्वास नहीं हो रहा था।

लेकिन कुछ दिन बाद शर्मा ने प्रसाद को एक कार्यक्रम में बुलाया और वहां पर प्रसाद को प्रिंस नरूला से मिलवाया। इसके बाद प्रसाद पैसे देने को तैयार हो गया।

और आखिरकार 2018 में, प्रसाद ने शर्मा को 5 लाख रुपये दिया। पैसे पाने के बाद, शर्मा ने अपना असली रंग दिखाना शुरू कर दिया। उसने प्रसाद से बात करना बन्द कर दिया और अपना फोन नंबर भी चेंज कर दिया। 

इसके बाद प्रसाद ने पिछले साल इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस सूत्रों के अनुसार,इस मामले में शिकायतकर्ता ने प्रिंस से संपर्क किया था, जिसके बाद प्रिंस ने कहा कि शर्मा उनके साथ काम करने वाला था, लेकिन वह काम शुरू ही नहीं हुआ।  प्रिंस ने धोखाधड़ी की जानकारी के बाद शिकायतकर्ता की मदद करने का भी वादा किया था।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय