पाकिस्तान की हरकत से जाधव के मुंबई के मित्र भी नाराज

जाधव और उनके परिवार वालों के बीच एक शीशे की दीवार थी।

SHARE

पाकिस्तान की जेल में कैद भारतीय नागरिक और नौसना के पूर्व कमांडर कुलभूषण जाधव से उनकी पत्नी और मां ने इस्लामाबाद में सोमवार को मुलाकात की। लेकिन कुटिल पाकिस्तान ने यहां भी अपनी हरकत से बाज नहीं आया। जाधव और उनके परिवार वालों के बीच एक शीशे की दीवार थी और इनकी आपस में बात इंटरकॉम के जरिए कराई गई। पाकिस्तान के इस हरकत पर कई लोगों ने नाराजगी जताई है।

खड़ी की दीवार 

जाधव के परिवार वालों ने जाधव से यह मुलाक़ात डेढ़ साल बाद की थी। इनके बीच कुल 40 मिनट तक बात हुयी। हालांकि इनके बीच कांच की दीवार थी जिससे यह एक दूसरे को तो देख सकते हटे लेकिन छू नहीं सकते थे। यही नहीं जहां इनके बीच बातचीत हुई वहां कैमरा भी लगा हुआ था। पाकिस्तान के इस रवैये से जाधव के मुंबई के मित्र खासे नाराज हुए।


आज कि यह मुलाकात कोई मुलाकत थी? उनको की प्राइवेसी नहीं दी गयी थी। दोने के बीच कांच की दीवार थी।पकिस्तान से हमें यह आशा नहीं थी। मुलाकात वाले फोटो में जाधव के शरीर का केवल एक साइड ही नजर आ रहा है, यह सराकर गलत है धोखा है।

शुभ्रतो मुखर्जी, कुलभूषण यांचे मित्र

आपको बता दें कि इस मुलाकात के समय कुलभूषण जाधव, उनकी मां और पत्नी के अलावा भारतीय उच्चायुक्त जे. पी. सिंह भी उपस्थित थे। कुलभूषण मुंबई के पवई इलाके के रहने वाले हैं।


क्या था मामला?

गौरतलब है कि 3 मार्च 2016 के दिन जाधव को पाकिस्तान के बलूच प्रांत में गिरफ्तार किया गया। पकिस्तान ने उन पर आरोप लगाया कि वो भारत के इंटेलिजेंस 'raw'(रॉ) के जासूस हैं। पकिस्तान ने जाधव पर मुकदमा किया और रावलपिंडी कोर्ट ने उन्हें फांसी की सजा सुना दी।

कुलभूषण जाधव ने नौसेना से अपनी सेवानिवृत्ति के बाद अपना व्यवसाय शुरू किया। उनके परिवार ने कुलभूषण जाधव एक जासूस होने के आरोप से इनकार किया है।



संबंधित विषय
ताजा ख़बरें