पिछले साल महाराष्ट्र रेप और हत्या के मामले में रहा देश भर में अव्वल

महिलाओं पर हुए अत्याचारों और हत्याओं को देखें तो, नेशनल क्राइम रिकॉर्ड (national crime record) के रिपोर्ट के अनुसार, महाराष्ट्र में रेप और हत्या के मामले सबसे अधिक आए हैं।

पिछले साल महाराष्ट्र रेप और हत्या के मामले में रहा देश भर में अव्वल
SHARES

उत्तर प्रदेश (uttar pradesh) में हाथरस गैंगरेप (hathras gangrape case) ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है।  इस घटना के बाद, अगर हम विभिन्न राज्यों में महिलाओं पर हुए अत्याचारों और हत्याओं को देखें तो, नेशनल क्राइम रिकॉर्ड (national crime record) के रिपोर्ट के अनुसार, महाराष्ट्र में रेप और हत्या के मामले सबसे अधिक आए हैं।

2019 में, महाराष्ट्र में देश में सबसे अधिक 47 मामले बलात्कार और हत्या (rape and murder) के मामले सामने आए हैं।  महाराष्ट्र के बाद, मध्य प्रदेश में बलात्कार और हत्या के 37 मामले दर्ज किए गए हैं। उसके बाद उत्तर प्रदेश में बलात्कार और हत्या के 34 मामले सामने आए।  

महाराष्ट्र में महिलाओं के खिलाफ 37 हजार 144 अपराध किए गए। देश में महाराष्ट्र इस मामले में तीसरे स्थान पर है। इसके ऊपर पहले नंबर पर उत्तर प्रदेश (59853) और दूसरे नंबर पर राजस्थान (411550) में महिलाओं के खिलाफ सबसे ज्यादा अपराध होते हैं।  

बलात्कार की घटनाओं की बात करें तो महाराष्ट्र चौथे स्थान पर है।  राजस्थान में सबसे ज्यादा 5997 बलात्कार के मामले हैं।  इसके बाद उत्तर प्रदेश (3065) और मध्य प्रदेश (2485) रहा।  महाराष्ट्र बलात्कार के मामलों में देश में चौथे स्थान पर है।  राज्य में 2299 बलात्कार के मामले दर्ज किए गए।  इसके बाद, केरल ने 2023 बलात्कार के मामले दर्ज किए हैं।

देश की वित्तीय राजधानी मुंबई (mumbai) में वरिष्ठ नागरिकों के खिलाफ सबसे अधिक अपराध हैं।  2017 से मुंबई इस मामले में नंबर एक पर है।  2019 में, वरिष्ठ नागरिकों के खिलाफ 1231 अपराध दर्ज किए गए हैं।  इसके बाद दिल्ली (1076), अहमदाबाद (794) और चेन्नई (552) है।  इनमें से अधिकांश अपराध संपत्ति से संबंधित हैं।  ज्यादातर मामलों में, वरिष्ठ नागरिकों को धोखा दिया जाता है या लूट लिया जाता है।  इस मामले में महाराष्ट्र देश में टॉप पर है।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय