ट्रैफिक जाम और टोल नाको से बचने के लिए गाड़ी में लगाता था हूटर


SHARE

मुंबई के ट्रैफिकजाम और टोल नाकों पर पैसे देने से बचने के लिए अपने गाड़ी में हूटर लगा कर चलने वाले फर्जी कस्टम अधिकारी को माहिम पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस फर्जी अधिकारी का नाम अमरजीत रघुवंशी (41) है। पुलिस को इसके पास से नकली कस्टम अधिकारी का पहचान पत्र मिला है।

क्या है मामला?
बताया जाता है की अमरजीत सिंह जब जब मुंबई की ट्रैफिक जाम में अटक जाता था तो वह अपने गाड़ी में हूटर लगा कर चला देता था। हूटर की आवाज सुन कर बड़ी आसानी से इसे लोग रास्ता दे देते थे। मंगलवार को अमरजीत सिंह कहीं जा रहा था, जब वह माहिम पहुंचा तो वहां भी ट्रैफिक जाम में फंस गया। हर बार की तरह इस बार भी अमरजीत ने गाड़ी में रखे हूटर को लगा कर बजा दिया। अब इसे अमरजीत की बदकिस्मत कहें या फिर माहिम पुलिस की अच्छी किस्मत, वहां माहिम पुलिस ट्रैफिक हटाने का काम कर रही थी।जैसे ही हूटर की आवाज को माहिम पुलिस ने सुना कोई वीआईपी के आने की बात जान कर सभी सतर्क हो गए। 

लेकिन माहिम पुलिस को वीआईपी के आने की कोई सूचना नहीं मिली थी। साथ ही जब पुलिस ने गाड़ी को देखा तो उन्हें कुछ संदेह हुआ। संदेह के आधार पर जब पुलिस ने गाड़ी को रुकने का इशारा किया तो अमरजीत ने गाड़ी भगा ली। इसके बाद तो पुलिस का संदेह शक ने बदल गया और पुलिस ने अमरजीत का एक किलोमीटर तक पीछा कर उसे पकड़ लिया।

यही नहीं पकड़े जाने के बाद भी अमरजीत अपने आप को कस्टम अधिकारी बता कर पुलिस वालों पर धौंस जमता रहा। पुलिस ने जब अमरजीत से उसका आईडी मांगा और उसकी पड़ताल की तो अमरजीत की सारी पोलपट्टी खुल गयी।

इसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की, उसने पूछताछ में बताया कि पेशे से वह एक ठेकेदार है। वह ट्रैफिक जाम और टोल पर पैसे न देना पड़े इसीलिए वह यह सब स्वांग रचाया करता था।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें