मृत घोषित आरोपी दो साल बाद हुआ जिंदा गिरफ्तार

    Mumbai
    मृत घोषित आरोपी दो साल बाद हुआ जिंदा गिरफ्तार
    मुंबई  -  

    खुद की स्कॉटलैंड यार्ड से तुलना करने वाली मुंबई पुलिस का एक ऐसा कारनामा सामने आया है जिसे सुन कर आप भी चौंक जाएंगे। जिस शिवाजी पार्क पुलिस ने हत्या के एक मामले में फरार आरोपी की मृत्यु होने पर केस की फाइल बदं कर दी थी उसी आरोपी को क्राइम ब्रांच ने दो साल बाद जिंदा पकड़ा है। आरोपी का नाम शिवाजी घोडके (30) है जो वेश बदलकर अहमदनगर में रह रहा था।

    मामले के अनुसार 24 सितंबर 2015 में दादर रेलवे ब्रिज के नीचे एक शख्स की लाश मिली थी। पुलिस ने जब लाश की शिनाख्त की तो पता चला कि लाश किसी बलिराम रक्ते नाम के युवक की थी। जब पुलिस ने गहराई से जांच की तो इस हत्या के पीछे बूट पॉलिश करने वाला किसी शिवाजी घोडके नामके शख्स के हाथ होने का पता चला। लेकिन उस समय घोडके पुलिस के हत्थे नहीं लगा। पुलिस ने घोडके की काफी खोजबीन की लेकिन उसका कहीं कोई अतापता नहीं चला। इसी बीच दादर रेलवे पटरी पर एक युवक की लाश मिली जिसकी रेलवे दुर्घटना में मौत हो गयी थी। यह युवक कदकाठी और नैन नक्श के मामले में बिलकुल घोडके की तरह ही लग रहा था। पुलिस ने शिनाख्त के लिए अहमदनगर से घोडके के माँ-बाप को बुलाया। इन दोंनो ने भी घोडके की ही लाश होने की पुष्टि की। इसे देखते हुए पुलिस ने बलिराम मर्डर केस की फाइल बंद कर दी।

    लेकिन कहते हैं ना, क्राइम नेवर पेस, इंसान का पाप साया बन कर उसके पीछे पीछे चलता है। इस मामले में भी ऐसा ही कुछ हुआ। पुलिस ने तो फाइल बंद कर दी, लेकिन क्राइम ब्रांच को कुछ शक हुआ। क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने लाश और बलिराम के मां-बाप, दोनों का डीएनए लेकर जब मैच कराया तो डीएनए मैच नहीं हुआ। शक पुख्ता होने पर क्राइम ब्रांच ने अपनी तफ्तीश और बढ़ा दी।पुलिस ने शिवाजी घोडके की सारी जानकारी हासिल की। इन्होने घोडके की तस्वीर पेपर में छपवाया और 10 हजार का इनाम भी रखा।

    कुछ दिनों पहले क्राइम ब्रांच को अपने सूत्रों से खबर मिली की घोडके अहमदनगर के श्रीराम पुर में बूट पॉलिश का काम कर रहा है। सूचना के आधार पर क्राइम ब्रांच की टीम ने मौके पर जाकर घोडके को धर दबोचा। लेकिन यहां भी शातिर किस्म का अपराधी घोडके ने संभावित किसी भी गिरफ्तारी से बचने के लिए अपना हुलिया पूरी तरह से बदल लिया था ताकि कोई उसे पहचान नहीं पाए। बावजूद इसके वह कानून के लम्बे हाथ से नहीं बच सका।


    डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

    मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

    (नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 

       



    Loading Comments

    संबंधित ख़बरें

    © 2018 MumbaiLive. All Rights Reserved.