पल्लवी पुरकायस्थ मर्डर केस: दोषी कश्मीर से हुआ गिरफ्तार, 16 महीने से था फरार

पल्लवी का मर्डर, पल्लवी पर बुरी नजर रखने वाले बिल्डिंग के वाचमैन ने ही किया था।

 Mumbai
पल्लवी पुरकायस्थ मर्डर केस: दोषी कश्मीर से हुआ गिरफ्तार, 16 महीने से था फरार
पल्लवी पुरकायस्थ मर्डर केस: दोषी कश्मीर से हुआ गिरफ्तार, 16 महीने से था फरार
पल्लवी पुरकायस्थ मर्डर केस: दोषी कश्मीर से हुआ गिरफ्तार, 16 महीने से था फरार
पल्लवी पुरकायस्थ मर्डर केस: दोषी कश्मीर से हुआ गिरफ्तार, 16 महीने से था फरार
See all

एडवोकेट पल्लवी पुरकायस्थ हत्याकांड मामले में फरार चल रहे दोषी सज्जाद मुगल को आख़िरकार गिरफ्तार कर ही लिया गया। इसे मुंबई पुलिस ने जम्मू कश्मीर के श्रीनगर से 16 महीने बाद गिरफ्तार किया। मंगलवार को मुंबई पुलिस की टीम सज्जाद को जम्मू से मुंबई लेकर आई। गिरफ्तारी के बाद उसे नासिक जेल भेज दिया गया।

(चित्र में: मीडिया से बात करती पुलिस की टीम)


कैसे हुआ गिरफ्तार

जांच अधिकारी ने बताया कि कश्मीर जैसे आतंकवाद ग्रसित इलाके में किसी मुजरिम को पकड़ना काफी मुश्किल होता है। विशेषकर बॉर्डर से सटे गांव में। सज्जाद का गाँव सलामाबाद भी बोर्डर से सटा था, इसीलिए पुलिस वर्दी मे भी नहीं जा सकती थी। अधिकारी के अनुसार कितनी बार तो पुलिस निरीक्षक संजय निकम ने नेतृत्व में गई टीम को खाली हाथ वापस लौटना पड़ा। इसीलिए पुलिस ने लोकल सोर्स पर काम करना शुरू किया। इसके लिए पुलिस कई दिन तक वहीँ डेरा डाले जमी रही। आख़िरकार लोकल सोर्स काम आया। टीम का नेतृत्व कर रहे पुलिस निरीक्षक संजय निकम को सूचना मिली कि सज्जाद एक टनल के काम के लिए गांव से बाहर आया है। इसके बाद सज्जाद को पकड़ने के लिए पुलिस की टीम तुरंत निकल पड़ी। संजय निकम ने किसी संभावित दुर्घटना से बचने के लिए अपना लुक चेंज किया। उन्होंने कश्मीरी कपड़े पहने और अपनी बढ़ी हुई दाढ़ी के साथ वहां एक पर्यटक बन कर गए और वहां से सज्जाद को गिरफ्तार किया।

(चित्र में : बीच में दोषी सज्जाद मुग़ल)

क्या था पूरा मामला

पुलिस की जांच के अनुसार सज्जाद मुग़ल पल्लवी की बिल्डिंग हिमालयन हाइट्स का वाचमैन था। पल्लवी पर उसकी बुरी नजर थी। सज्जाद ने पल्लवी के फ्लैट की चाबी चोरी कर उसके घर में दाखिल हुआ। पुलिस के अनुसार वह रेप करने के लिए पल्लवी के घर में घुसा था, लेकिन पल्लवी के चिल्लाने पर सज्जाद ने चाकू से उसकी हत्या कर दी।

लिव इन पार्टनर ने दी सूचना  

पल्लवी अपने लिव इन पार्टनर अविक के साथ रहती थी। सबसे पहले अविक ने ही खून से लथ-पथ पल्लवी की बॉडी देखी थी। इसके बाद उसने पुलिस को सूचना दी। बिल्डिंग वालों से पूछताछ के बाद पुलिस सज्जाद तक पहुंचने में कामयाब हुई। इसके बाद पुलिस ने सज्जाद को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की पूछताछ में सज्जाद ने अपना गुनाह कबूल कर लिया।

(चित्र में: पुलिस निरीक्षक संजय निकम)

पैरोल पर हुआ फरार

पल्लवी के मर्डर के आरोप में कोर्ट ने उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई, लेकिन फरवरी 2016 में मां की बीमारी का बहाना बना कर वह एक महीने की पैरोल पर बहार आ गया। बाहर आने के बाद सज्जाद अपने गांव कश्मीर चला आया और फिर गया ही नहीं।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दें) 

 

 




Loading Comments