डॉ. पायल आत्महत्या मामले की आरोपी 3 महिला डॉक्टर गिरफ्तार

आदिवासी समाज से आने के कारण तीनों सीनियर डॉक्टर पायल की रैगिंग करती थीं। इस रैंगिंग से तंग आकर डॉक्टर पायल ने सुसाइड कर लिया था। गिरफ्तारी के बाद से पुलिस डॉक्टर भक्ति, अंकिता और हेमा आहूजा से पूछताछ कर रही है।

SHARE

मुंबई के नायर अस्पताल की डॉक्टर पायल तडवी के आत्महत्या मामले में पुलिस ने अस्पताल की तीन महिला डॉक्टरों को गिरफ्तार कर लिया है। मुंबई की अग्रीपाड़ा पुलिस ने डॉक्टर भक्ति के बाद डॉक्टर अंकिता को भी गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले डॉक्टर हेमा आहूजा को अंधेरी स्टेशन परिसर से गिरफ्तार किया गया था। इन तीनों पर डॉक्टर पायल के साथ रैगिंग कर खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप है।

रैगिंग ने ली जान

खबरों के मुताबिक आदिवासी समाज से आने के कारण तीनों सीनियर डॉक्टर पायल की रैगिंग करती थीं। इस रैंगिंग से तंग आकर डॉक्टर पायल ने सुसाइड कर लिया था। गिरफ्तारी के बाद से पुलिस डॉक्टर भक्ति, अंकिता और हेमा आहूजा से पूछताछ कर रही है। आज तीनों को मुंबई के सेशन कोर्ट में पेश किया जाएगा।

पैरेंट्स ने दर्ज की शिकायत

पायल के माता-पिता की शिकायत पर मुंबई पुलिस ने तीन सीनियर डॉक्‍टर्स के खिलाफ मामला दर्ज किया था। परिजनों का आरोप है कि आरोपी डॉक्‍टर्स उनकी बेटी का मानसिक उत्‍पीड़न के साथ ही जातीय टिप्‍पणी भी करते थे। सीनियर्स के इस व्‍यवहार से पायल बेहद परेशान रहती थी और इसी वजह से उसने ये कदम उठाया।

स्त्री रोग विभाग प्रमुख निलंबित

पायल आत्यहत्या मामले में स्त्री रोग विभाग के प्रमुख को अगली सूचना तक निलंबित कर दिया गया है। छात्रा के परिजनों ने अस्‍पताल के डीन, पुलिस और यहां तक की राज्‍यमंत्री से भी इसके लिए गुहार लगाई थी। इन्‍हें लिखित में शिकायत दी गई थी, लेकिन किसी ने रैगिंग रोकने को लेकर कदम नहीं उठाया।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें