नकली गहने के बदले देता था लोन, बैंक कर्मचारी हुआ गिरफ्तार

बैंक कर्मचारी को गिरफ्तार किया है जो अपने करीबियों की सहायता से बैंक में नकली गहना जमा कराता था और उसके बदले लोन पास कर देता था।

SHARE

मुंबई पुलिस ने एक ऐसे बैंक कर्मचारी को गिरफ्तार किया है जो अपने करीबियों की सहायता से बैंक में नकली गहना जमा कराता था और उसके बदले लोन पास कर देता था। आरोपी का नाम रामास्वामी नाडर है, नाडर ने इस तरह से करोड़ो रुपये के लोन पास कर चुका था। आखिर मामले का खुलासा होने पर नाडर को मुंबई पुलिस की प्रॉपर्टी सेल ने गिरफ्तार कर लिया।

क्या था मामला?
मामले के अनुसार धारावी के इंडियन बैंक की तरफ से कुछ दिन पहले एक नीलामी प्रक्रिया रखी थी। इस प्रक्रिया के तहत बैंक उन ग्राहकों के गिरवी रखे गये सोने की नीलामी कर रही थी जो बैंकों के कर्ज को नहीं भर पा रहे थे। इसी प्रक्रिया के तहत बैंक के लॉकर में रखे गये सोने की जांच हो रही थी। जब लॉकर नंबर 77 की जांच की गयी तो उसमें नकली सोने रखे जाने की पुष्टि हुई।

जब मामले की आगे जांच की गयी तो पता चला कि इस सोने को बैंक के कर्मचारी रामास्वामी नाडर द्वारा जमा कराया गया था। बाद में इस मामले की शिकायत धारावी पुलिस से की गयी।

पुलिस ने जब जांच शुरु की तो उन्हें नाडर की भूमिका संदिग्ध लगी। पुलिस ने नाडर को हिरासत में लेकर जब कड़ाई से पूछताछ की तो नाडर टूट गया और उसने सब सच बता दिया। नाडर से पूछताछ के बाद पुलिस ने बताया कि नाडर इंडियन बैंक में पिछले 2 साल से काम करता था। इसके पहले वह अंटॉप हिल में गहनों की दूकान चलाता था।  

पुलिस के अनुसार नाडर ने इस काम में अपने करीबी लोगों की भी मदद ली थी। नाडर के करीबी अपना पैन कार्ड, आधार कार्ड सहित अन्य डाक्यूमेंट्स के साथ-साथ नकली गहना लेकर बैंक पहुंच जाते थे, और गहना गिरवी रख कर लोन के लिए अप्लाई करते थे। बैंक में जाने के बाद उनका काम नाडर ही देखता था। नाडर ने इस तरह से करीब 12 लोगों को नकली गहने जमा करा कर लगभग करोड़ों रुपये का लोन दिया था। लोन का कुछ रकम अपने करीबी को देकर बाकी सारा पैसा नाडर अपने पास ही रख लेता था।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें