कुख्यात तेल तस्कर राजू पंडित के खिलाफ मकोका के तहत केस दर्ज


SHARE

कुख्यात तेल माफिया राजू पंडित पर मकोका (संगठित अपराध अधिनियम महाराष्ट्र नियंत्रण) के तहत केस दर्ज किया गया है। पुलिस को आशा है कि इस कड़े कानून से सबक लेकर अन्य तेल माफियाओं पर लगाम लगेगी। आपको बता दें कि राजू पंडित एक कुख्यात तेल तस्कर है जो अपने गुर्गों के साथ मिलकर समुद्री रास्ते से तेल की तस्करी करता था। 


क्या था मामला?

राजू पंडित अपने सहयोगियों के साथ मिलकर विदेशों से आयातित तेल को बंदरगाहों से चुरा कर उसे सस्ते दामों में मार्केट में बेच दिया करते थे। जब इस बात की जानकारी पुलिस को मिली तो पोर्ट जोन पुलिस ने जाल बिछा कर कुछ दिन पहले ही राजू पंडित सहित उसके दो आदमियों को गिरफ्तार किया था।

यही नहीं इस साल गणपति विसर्जन के समय जब पुलिस विभाग के अधिकांश कर्मी बंदोबस्त में लगे थे तो उसका फायदा उठा कर राजू पंडित ने अपनी गैंग की सहायता से बंदरगाह से सैकड़ों लीटर तेल की चोरी की थी। इस बात का खुलासा तब हुआ जब 17 सितंबर को आधी रात के समय लकड़ा बंदर के करीब एक संदिग्ध नाव यलोगेट पुलिस को लावारिस हालत में मिली। जब पुलिस ने इस नाव की तलाशी ली तो पुलिस को इस नाव में से 70 लीटर डीजल मिला।

पुलिस ने जब नाव के बारे में अन्य लोगों से पूछताछ की तो पुलिस को पता चला कि इस नाव पर सोनू उर्फ जलील कुरेशी, मोहम्मद अंसारी और एक नाबालिग लड़का काम करता है। इसके बाद पुलिस ने तीनो लोगों को हिरासत में लिया। इन तीनों के मोबाइल फोन का सीडीआर चेक करने पर राजू पंडित का नाम सामने आया। तेल तस्करी का मास्टर माइंड राजू पंडित ही बताया जा रहा था।

इन तीनों गिरफ्तार लोगों ने पुलिस को बताया कि ये लोग डीजल चुरा कर समुद्र में मछली मारने वाले लोगों या फिर समुद्र में पर्यटकों को घुमाने वाले लोगों को सस्ते दामों में बेच दिया करते थे, इससे सभी की चांदी कट रही थी।

इसके पहले भी राजू पर तेल तस्करी के 5 आपराधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस ने कड़ा कदम उठाते हुए राजू पर मकोका के तहत केस दर्ज किया है साथ ही उम्मीद जताई है कि अब तेल तस्करों पर लगाम लगेगी।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें