दहिसर में गर्भवती महिला से मारपीट

 Dahisar
दहिसर में गर्भवती महिला से मारपीट

13 अप्रैल की रात दहिसर पूर्व के अम्बावाड़ी इलाके में गर्भवती महिला के साथ अश्लील हरकत व मारपीट करने वाले 4 लोगों के खिलाफ पुलिस ने 14 अप्रैल को मामला दर्ज किया है। इस मामले में अबतक सिर्फ मोहसीन खान नाम के व्यक्ति की ही गिरफ्तारी हो पाई है, जबकि अन्य लोगों की गिरफ्तारी अभी तक नहीं हुई है। पीड़ित महिला ने यह भी आरोप लगाया है कि पुलिस कुछ राजनीतिक दबाव के कारण देर रात ढाई बजे उसके परिजनों पर भी झूठा मारपीट का केस दर्ज किया है। जबकि यह मारपीट की घटना उसके साथ गुरुवार 2 बजे दिन में हुई, उपचार के लिए पीड़िता को शताब्दी अस्पताल में भर्ती किया गया था।

पीड़िता के भाई संजय विश्वकर्मा पर इस मामले को रफा दफा करने के लिए काफी दबाव एक विशेष समुदाय के लोगों द्वारा डाला गया, जब वह इस मामले की शिकायत वापस लेने से मना किया तो, उसके खिलाफ भी झूठा केस देर रात पुलिस पर दबाव बनाकर दर्ज कराई गई। ऐसा आरोप पीड़ित महिला और उसके परिजनों ने लगाया है। संजय विश्वकर्मा का कहना है कि सफीजमा नामक व्यक्ति उनकी चाल में किराए पर रहता हैं, लेकिन पिछले कुछ समय से जबरदस्ती चालमालिक पर वहां की दीवार तोड़ने हेतु दबाव डाल रहा था, इस बाबत आपसी सहमति से मामला सुलझ जाने के बावजूद भी सफीजमा का बेटा मोहसीन खान और उसके भाइयों ने मिलकर संजय विश्वकर्मा की बहन मनोरमा विश्वकर्मा नामक गर्भवती महिला को सड़क पर पटक कर लात घूसों पीटा। सफीजमा खान, रजा ए हक नामक संस्था में सेकेट्री है, जिसके कारण उनकी साथ के पदाधिकारी कलीम और जुबैर भी मौके पर पहुंच कर संजय और उनकी बहन के साथ मारपीट कर अश्लील बर्ताव किया। इस संबंध में दहिसर पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुभाष सावंत के कहना है कि अन्य फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है।

Loading Comments