मालाड के स्वामी नारायण मंदिर में एक साल पहले चोरी करने वाला पुजारी हुआ गिरफ्तार

जब मंदिर में चोरी होने की बात सामने आई तो मंदिर में लगे सीसीटीवी को चेक किया गया, जिसमें सुखदेव मूर्ति पर से गहनों को उतारता नजर आया। ट्रस्टी वालों ने मालाड पुलिस स्टेशन में सुखदेव के खिलाफ ढाई लाख रुपए के गहने चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज कराई।

SHARE

मालाड स्थित स्वामी नारायण मंदिर में एक साल पहले चोरी कर फरार हुए आरोपी पुजारी  को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस पुजारी का नाम सुखदेव रोहित है। बताया जाता है कि सुखदेव के खिलाफ कोल्हापूर, पुणे, गुजरात और मुंबई के विभिन्न पुलिस स्टेशनों में चोरी के अन्य मामले भी दर्ज हैं।  

क्या है मामला?
मिली जानकारी के मुताबिक मूल रूप से राजस्थान का रहने वाला सुखदेव की मोडस ओपरेंडी थी कि वह उन मंदिरों में निशाना बनाता जहां भक्त चढ़ावे के रूप में अधिक मात्रा में गहने चढ़ाते थे। ऐसे मंदिरों में जाकर वह ट्रस्टियों से मिलता और खुद को पुजारी बता कर वहां काम मांगता था। जब इसे काम दे दिया जाता तो वहां मन लगा कर काम करता और लोगों का विशवास जीत लेता था, लेकिन थोड़े ही दिन में मंदिर से चोरी कर फरार भी हो जाता था।

इसी तरह से सुखदेव मालाड के स्वामीनारायण मंदिर में साल 2017 नवंबर महीने में काम पर लगा था। अपने अच्छे काम के कारण इसने ट्रस्ट वालों का विश्वास भी जीत लिया था और ट्रस्ट वालों ने इसका प्रमोशन करते हुए इसे बड़ा पद भी दे दिया गया, लेकिन जल्द ही इसने अपना असली रूप दिखाया और मंदिर की मूर्ति में चढ़े गहनों को चोरी कर फरार हो गया।

जब मंदिर में चोरी होने की बात सामने आई तो मंदिर में लगे सीसीटीवी को चेक किया गया, जिसमें सुखदेव मूर्ति पर से गहनों को उतारता नजर आया। ट्रस्टी वालों ने मालाड पुलिस स्टेशन में सुखदेव के खिलाफ ढाई लाख रुपए के गहने चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज कराई।

पुलिस ने जब जांच शुरू की तो पता चला कि सुखदेव अपने गांव राजस्थान में है। सुखदेव को मुंबई पुलिस ने राजस्थान जाकर गिरफ्तार किया। जांच में पुलिस को यह भी पता चला कि उसके खिलाफ अन्य पुलिस स्टेशनों में भी चोरी के मामले दर्ज हैं।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें