तो क्या कुंभ मेले में एसिड या केमिकल अटैक कर आतंक फैलाना चाहते थे ये आतंकी?

जो सभी आरोपी हैं वे उच्च शिक्षित हैं और कम्प्यूटर के जानकार भी हैं, जैसे कि मोहम्मद मजहर शेख मकैनिकल इंजिनियर है और मोहसिन खान सिविल इंजीनियर है जबकि फहद शाह आर्किटेक्ट का काम करता है।

SHARE

महाराष्ट्र एटीएस (एंटी टेरेरिस्ट स्क्वाड) ने ISIS से कनेक्शन रखने के मामले में 9 लोगों को गिरफ्तार किया। जिसमें से 5 लोगों को औरंगाबाद से तो 4 लोगों को ठाणे के मुंब्रा से गिरफ्तार किया गया। इन लोगों के पास से एटीएस को जो सबूत और सामान मिले हैं उससे काफी चौकानें वाली जानकारी सामने आ रही है। सूत्रों के मुताबिक ये सभी 26 जनवरी के दिन भीड़ वाली जगह पर 'एसिड अटैक' या फिर 'केमिकल अटैक' को अंजाम देने की योजना बना रहे थे।

महाराष्ट्र एटीएस का कहना है सुरक्षा एजेंसियों से मिली सूचना आधार पर आतंकी संगठन ISIS से जुड़े एक समूह की तलाश में सर्च ऑपरेशन चलाया गया। इस दौरान ठाणे के मुंब्रा और औरंगाबाद जिलों में छापेमारी की गई।  इस छापेमारी अभियान के बाद 9 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इनके पास से कुछ केमिकल, पाउडर, मोबाइल फोन, हार्ड ड्राइव, सिमकार्ड, ऐसिड बोतल और धारदार चाकू भी बरामद किए गए हैं।

सूत्रों के मुताबिक इन लोगों के निशाने पर कुंभ या फिर 26 जनवरी जैसे बड़े भीड़ भाड़ वाले स्थान पर जाकर अपने नापाक इरादों को अंजाम देना था। यही नहीं ये लोग पारंपरिक बम ब्लास्ट करने की जगह खाने में जहर मिलाना या फिर केमिकल या  एसिड अटैक करके कईयों की जान लेना था।

पिछले महीने NIA ने जब यूपी के अमरोहा और दिल्ली के जफराबाद ने ISIS से कनेक्शन के मामले में 16 जगहों पर छापा मार कर कुछ लोगों को गिरफ्तार किया तो उनसे पूछताछ के बाद ही इनके नाम सामने आये। बताया जाता है कि जब पुलिस मुंब्रा पहुंची तो ये चारों औरंगाबाद भागने की तैयारी कर रहे थे।

एटीएस ने मुंब्रा से जिन चार लोगों को हिरासत में लिया है उनमें एक नाबालिग भी शामिल है। यही नहीं जो अन्य आरोपी हैं वे सभी उच्च शिक्षित हैं और कम्प्यूटर के जानकार भी हैं, जैसे कि मोहम्मद मजहर शेख मकैनिकल इंजिनियर है और मोहसिन खान सिविल इंजीनियर है जबकि फहद शाह आर्किटेक्ट का काम करता है। 

इस बात की जानकारी मिली है कि ये सभी सोशल मीडिया के माध्यम से युवाओं में कट्टरता फैला रहे थे, इनके पास से कई आपत्तिजनक वीडियोज भी मिले हैं। साथ ही इस बात की भी जानकारी मिली है कि ये सभी उन्मत-ए-मोहम्मदिया नामके एक वाट्सऐप ग्रुप के माध्यम से एक दुसरे के संपर्क में थे। इन पर एटीएस की नजर काफी पहले से ही थी जिसके बाद इन्हें मुंब्रा के कौसा नगर से गिरफ्तार किया गया।

पढ़ें: ATS ने आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की फिराक में 9 संदिग्धों को किया गिरफ्तार

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें