flashback 2019: साल की ऐसी आपराधिक घटनायें जिसने सोचने पर मजबूर कर दिया

साल 2019 अब कुछ ही दिन बाकी है। इस साल ऐसी कई घटनाएं हुई, जो काफी चौकानें वाली थीं। जिसे सुन कर एक बार तो सब चौंक गए।

SHARE

साल 2019 अब कुछ ही दिन बाकी है। इस साल ऐसी कई घटनाएं हुई, जो काफी चौकानें वाली थीं। जिसे सुन कर  एक बार तो सब चौंक गए। हम ऐसे ही कुछ घटनाओं पर प्रकश डालेंगे जिसने सभी को सोचने पर मजबूर कर दिया।

PMC आंदोलन 
पंजाब महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक में घोटाला होने के बाद से हजारों की संख्या में पीड़ितों की संख्या सामने आने लगी। इस घोटाले के कारण 10 से अधिक लोगों की मौत भी हो चुकी है। इस घोटाले के खिलाफ PMC कर्मचारी सड़क से लेकर आज़ाद मैदान और बैंकों के बाहर सभी जगह धरना आंदोलन करने लगे। पीड़ितों की संख्या मुंबई सहित ठाणे, नवी मुंबई  और पालघर में थी। इस मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया. मामला कोर्ट में अभी तक पेंडिंग है।

पायल तडवी सुसाइड केस 
मूल रूप से जलगांव की रहने वाली और आदिवासी जाति की डॉपायल तडवी रेजिडेंट डॉक्टर के रूप में नायर अस्पताल में सेकंड इयर पोस्ट ग्रेजुएशन की छात्रा थी। उसके मोबाइल से पुलिस को पता चला कि वह वरिष्ठ डॉक्टरों की प्रताडऩा से तंग थी साथ ही उसके सीनियर्स डॉक्टर उस पर जातिगत टिप्पणी कर अक्सर उसे परेशान करते थे। यही नहीं यह बात भी सामने आई किमहिला डॉक्टरों का एक वाट्सऐप ग्रुप थाजिसका नाम 'रिमाइंडरथा।

इसी वाट्सऐप ग्रुप में पायल के खिलाफ आपत्तिजनक बातें मैसेज किये जाते थे। इन मैसेजों का स्क्रीन शॉट पायल ने कई बार अपनी मां के पास भी भेजा था साथ ही पायल ने वरिष्ठ डॉक्टरों से इस बारे में शिकायत भी की थी। इसके बावजूद इस तरह कुछ ध्यान नहीं दिया गया। आखिर तंग आकर पायल ने अपने कमरे में सुसाइड कर लिया।

विजय सिंह कस्टोडियल डेथ 
MR का काम करने वाले विजय सिंह को पुलिस मामूली से झगड़े को लेकर लॉकअप में बंद कर दिया और उसे काफी मारा पीटा और प्रताड़ित किया। जेल में जब विजय सिंह अधमरा हो गया तो उसे घर वाले अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। स्थानीय लोगों के अनुसार पुलिस ने विजय को इतना मारा कि उसे हार्ट अटैक आ गया जिससे उसकी मौत हो गयी। यही नहीं स्थानीय लोगों ने यह भी कहा कि अगर पुलिस समय रहते उसे अस्पताल ले जाती तो उसे बचाया जा सकता था।

अस्पताल की लापरवाही प्रिंस पर पड़ी भारी  
प्रिंस के दिल में जन्म से ही छेद होने के कारण उसे वाराणसी से इलाज के लिए मुंबई लाया गया था। उसे KEM हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया। बुधवार 6 नवंबर रात लगभग 2 सवा 2 बजे के लगभग ईसीजी मशीन में शॉर्ट-सर्किट के कारण आग लग गयी। वह ईसीजी मशीन प्रिंस से कनेक्ट थी। आग लगने के कारण मशीन के नॉड्स पिघल गए जिससे मासूम प्रिंस का दाहिना अंग काफी झुलस गया। इस आग में प्रिंस का दाहिना हाथ, चेहरा और पीठ भी जल गया था। सबसे अधिक प्रभावित उसका दाहिना हाथ हुआ था। उसके हाथ की नस जल कर क्षतिग्रस्त हो गयी थी, जिससे ब्लड सर्कुलेशन भी तुक गया था और इन्फेक्शन भी फ़ैलने का डर था। इसीलिए उसका हाथ काट दिया गया।

कल्याण ऑनर किलिंग
12 तारीख को कल्याण स्टेशन पर एक महिला की सिर कटी लाश मिलने से सनसनी फ़ैल गयी थी। इस लाश को एक बैग में भरा गया था। इस मामले में पुलिस ने जब जाँच शुरू की तो पता चला कि मरने वाली महिला का नाम प्रिंसी था, जिसे उसके पिता अरविंद तिवारी ने ही मारा था। पुलिस के मुताबिक हत्या की वजह ऑनर किलिंग था। इसके बाद अरविन्द तिवारी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें

YouTube वीडियो