ड्रग तस्करी में एक नाइजीरियन सहित टैक्सी चालक गिरफ्तार


SHARE

राजस्व खुफिया निदेशालय (DRI) ने नवी मुंबई के बेलापुर इलाके में 15 करोड़ रुपए की 'एम्फेटामाईन' जब्त की है। यह 'एम्फेटामाईन' तस्करी की जाने वाली थी। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इन दोनों आरोपियों के नाम शिवकुमार शर्मा और (38) और उगोची चिकेलू (35) है। उगोची चिकेलू नैजिरियां नागरिक बताया जाता है।

मामला क्या है? 
दरअसल DRI को सूचना मिली कि नवी मुंबई के बेलापुर में एक टैक्सी चालक की मदद से एक नाइजीरियन ड्रग तस्करी को अंजाम दे रहा है। सूचना मिलने के बाद DRI के अधकारियों ने मंगलवार को जाल बिछाया और टैक्सी चालक शिवकुमार शर्मा को गिरफ्तार किया। साथ ही शर्मा के साथ पुलिस ने चिकेलू को भी गिरफ्तार किया। जब पुलिस ने इनकी तलाशी ली तो पुलिस को इनके पास से कुछ नहीं मिला।

मशीन के अंडर  था ड्रग 
शिवकुमार की टैक्सी में 14 बॉक्स रखे हुए थे जिसमें वाटर प्यूरीफायर मशीन भरे हुए थे। इस मशीन को खोलने पर भी पुलिस को कुछ नहीं मिला। लेकिन जब पुलिस ने वाटर प्यूरीफायर खोला और उसके अंदर चेक किया तो मशीन के सिलेंडर में नशीले पदार्थ भरे हुए मिले। पुलिस ने सभी मशीनों को खोल कर उसमें भरे सभी नशीले पदार्थ जब्त कर लिया। कुल मिलाकर यह 15 किलो 340 ग्राम था। बताया जाता है कि इस नशीला पदार्थ 'एम्फोटामाइन' है जिसकी मार्केट कीमत 15 करोड़ रुपए है।

आरोपी हुए गिरफ्तार 
इन दोनों से पूछताछ में पुलिस को पता चला कि ये दोनों साथ मिल कर तस्करी किया करते थे। पैसों का लालच देकर चिकेलू ने शर्मा को भी फांस लिया था। ये दोनों साथ मिल कर तस्करी करते थे। पुलिस ने बताया कि चिकेलू ने शर्मा से 3 बैग वाशी टपाल कार्यालय में पहुंचाने को कहा था। इस बैग में ड्रग को छुपाया गया था। यही नहीं पोस्ट के द्वारा ये बैग विदेश भेजे जाने वाले थे। लेकिन काम अंजाम तक पहुंचे इसके पहले ही ये दोनों पुलिस के हत्थे चढ़ गये। अब पुलिस इन दोनों के खिलाफ आगे की कार्रवाई कर रही है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें