Advertisement

मस्जिद में लगे लाउड स्पीकर की आवाज कम करने का निर्देश देकर पुलिस ने करिश्मा को भेजा नोटिस

करिश्मा ने मस्जिद में जाकर लाउड स्पीकर के आवाज को कम करने का निवेदन किया था, लेकिन करिश्मा की इस मांग को स्थानीय मुस्लिमों ने मानने से इनकार कर दिया था।

मस्जिद में लगे लाउड स्पीकर की आवाज कम करने का निर्देश देकर पुलिस ने करिश्मा को भेजा नोटिस
SHARES
Advertisement


मानखुर्द इलाके में रहने वाली करिश्मा भोसले नामकी एक युवती ने मस्जिद में लगे लाउड स्पीकर की आवाज को पीड़ादायक बताते हुए उसके खिलाफ आवाज उठाई थी। करिश्मा ने मस्जिद में जाकर लाउड स्पीकर के आवाज को कम करने का निवेदन किया था, लेकिन करिश्मा की इस मांग को स्थानीय मुस्लिमों ने मानने से इनकार कर दिया था। जिसके बाद माहौल तनावपूर्ण हो गया था। इस मामले में पुलिस ने करिश्मा को धारा 149 के तहत नोटिस भेजा है और मस्जिद प्रशासन को आवाज कम करने का निर्देश दिया है।

करिश्मा ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि, हम भारत के लोग हैं .... वे हमारे लोगों के पास आए ...मैं कहती  हूं कि अगर हम एक साथ रहना चाहते हैं, तो हम शांति से रहेंगे, लेकिन कोई भी हमारे जीवन जीने के अधिकार को छीन कर नहीं दिखा सकता है।


करिश्मा ने अपने सोशल मीडिया पेज पर एक वीडियो भी शेयर किया था। जिसमें वह कुछ मुस्लिम महिलाओं के साथ नजर आ रही है और सभी एक दूसरे के साथ बहस कर रहे हैं।

इस मामले में करिश्मा का कहना है कि, मैंने अजान का विरोध नहीं किया, बस उस जगह पर बजने वाली आवाज़ को कम करने का अनुरोध किया था।  लेकिन स्थानीय लोगों ने इस पर मुझसे बहस की।  हमारी किसी से कोई दुश्मनी नहीं है।  अजान से मुझे ऐसी कोई आपत्ति नहीं है।  लेकिन इस लाउडस्पीकर की आवाज को लेकर है, जो काफी अधिक है।

करिश्मा का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद, उसे स्थानीय लोगों से धमकी भरे फोन आने लगे। इसके बाद मामले ने राजनीतिक रंग ले लिया और कई नेता भी मैदान में कूद पड़े।


आखिरकार पुलिस ने दोनों पक्षों के खिलाफ कार्रवाई की। पुलिस ने शांति भंग करने के आरोप में करिश्मा को नोटिस भेजा। नोटिस में लिखा गया है कि, करिश्मा का मस्जिद में जाना अनुचित था। अगर उसे किसी प्रकार की शिकायत थी तो उसे पहले पुलिस के पास आना चाहिए था।

इस संबंध में, पुलिस ने करिश्मा और उसकी मां को धारा 188 के तहत नियमों का पालन न करने के लिए नोटिस भेजा है।  पुलिस ने कहा है कि समय आने पर वे उसके खिलाफ मामला दर्ज कर सकते हैं। साथ ही मस्जिद प्रशासन को लाउडस्पीकर की आवाज को भी कम करने को कहा है।

संबंधित विषय
Advertisement