...यहां हर मन्नत हो सकती है पूरी!

 Mumbai
...यहां हर मन्नत हो सकती है पूरी!

इंसान और परेशानियों का सीधा वास्ता है। थोड़ी बहुत परेशानियों को तो हम सह लेते हैं। पर जब परेशानियां बढ़ने लग जाती हैं तो हम अपने ईश्वर की शरण में जाते हैं। और अपनी परेशानियों से उबरने के लिए हम उनसे मन्नत मांगने लग जाते हैं। आज हम आपको मुंबई के 10 ऐसे ही प्रार्थना स्थलों के बारे में बताने जा रहे हैं। जहां जाकर अपना दुखड़ा अपने ईशवर को सुना सकते हैं।


1.मुंबादेवी

मुंबादेवी से मुंबईकर तो वाकिफ हैं दूसरे शहरों के लोग भी मां के दर्शन करने आते हैं। इस शहर का नाम  मुंबई मुंबादेवी के नाम से ही पड़ा। यहां हर दिन मां के दरबार में भक्तों का तांता लगा रहता है।ऐसा माना जाता है कि मुंबई मामा मारीछ की नगरी है और मुंबादेवी उसकी कुल देवी थी। ऐसी मान्यता है कि मां के दरबार से कोई खाली हाथ नहीं जाता। मां अपने भक्तों की मुराद पूरी करती है। मुंबादेवी का मंदिर प्रिंसेस स्ट्रीट में स्थित है।


2.सिद्धीविनायक

मुंबई में सबसे से ज्यादा पूजे जाने वाले भगवान गणपति हैं। गणेश चतुर्थी के मौके पर मुंबई गणपति बप्पा मोरया की आवाज से गूंज उठती है। वहीं दादर स्थित सिद्धीविनायक मंदिर हर दिन गणेश भक्तों से भरा रहता है। यहां अमिताभ बच्चन जैसे बड़े सितारे भी अक्सर परिवार के साथ मत्था टेकने आते रहते हैं।


3.महालक्ष्मी

लक्ष्मी अर्थात धन की चाह किसे नहीं होती? यही वजह है कि महालक्ष्मी के दरबार में भक्तों की कभी कमी नहीं होती। उनके चौखट में मत्था टेक लोग धन की कामना करते हैं।  यह मंदिर महालक्ष्मी स्टेशन के पास है।  


4.बाबुलनाथ

देवों के देव महादेव मुंबई के पर्वत की चोटी पर विराजे हैं। जिन्हें सब बाबुलनाथ के नाम से जानते हैं। इस मंदिर को शहर का सबसे पुराना मंदिर माना जाता है। शिव भक्त सोमवार को बड़ी तादात में यहां पहुंचते हैं। महाशिवरात्रि के दिन बाबुलनाथ के दर्शन के लिए लगभग 3 किमी की लंबी लाइन होती है। यह मंदिर प्रसिद्ध गिरगांव बीच के पास स्थित है।


5.माउंट मैरी चर्च

मुंबई में हर धर्म और सम्प्रदाय के लोग मिलजुलकर रहते हैं। इसीलिए यहां पर हर धर्म के प्रार्थना स्थल हैं। मुंबई में सबसे प्रसिद्ध चर्च में से एक माउंट मैरी चर्च हैं। माउट मैरी का जन्म दिवस 1 सितंबर को मनाया जाता है। इस अवसर पर यहां एक सप्ताह के लिए मेला लगता है।


6. माहिम दरगाह

माहिम दरगाह में मन्नत मांगने वालों की कभी कमी नहीं होती। मुंबई पुलिस भी माहिम दरगाह पर चादर चढ़ाती है और मत्था टेकती है। ऐसी मान्यता है कि यहां हर किसी की मन्नत पूरी होती है।


7.हाजीअली दरगाह

हाजीअली आज के समय में बड़ा टूरिस्ट प्लेस बन गया है। यहां पर हर धर्म के लोग मत्था टेकने आते हैं। दूर से देखने पर इसका नजारा और भी सुंदर दिखाई देता है इसकी वजह है दरगाह का समुद्र पर स्थित होना।


8.सेंट माइकल चर्च (नॉवीना)

सेंट माइकल चर्च पर अपनी मन्नत लेकर दूर दूर से लोग आते हैं। इसे नॉवीना के नाम से भी जाना जाता है। यह माहिम में स्थित है।


9.पिकेट रोड का हनुमान

भूत पिशाच निकट नहीं आवे, महावीर जब नाम सुनावे। राम भक्त हनुमान का कलयुग मे खास महत्व है। कहते हैं उनकी शरण में आते ही लोगों को भू, पिशाच से निजात मिल जाता है। यही वजह की बजरंगबली के दरबार में जय श्रीराम कहने वाले भक्तों की कमी नहीं रहती।


10. हरे रामा हरे कृष्णा

हरे रामा हरे कृष्णा मंदिर परिसर 4 एकड़ में फैला हुआ है। यहां पर भगवान राम और कृष्ण की मनमोहक मूर्तियां हैं। राम नवमीं और कृष्ण जन्माष्टमी यहां पर बड़े ही धूमधाम से मनाई जाती है। भक्तों के लिए खाने पीने की भी यहां पर उत्तम व्यवस्था है। साथ ही लायब्रेरी भी है, जहां पर आप आध्यात्मिक पुस्तकों का अध्ययन कर सकते हैं। यह मंदिर जुहु में स्थित है।

यह भी पढ़ेंः ...ये मुंबई के दिल में बसते हैं !

यह भी पढ़ेंः जाने 10 सालों में मुंबई कैसे बन बैठेगी न्यूयॉर्क !

Loading Comments 

Related News from संस्कृति