आखिर क्या है नवरात्रि में नौ रंगो का महत्व ?


आखिर क्या है नवरात्रि में नौ रंगो का महत्व ?
SHARES

मुंबई और देश के कई अन्य हिस्सों में नवरात्रि को बड़े ही धूम धाम से मनाते है, कही मुर्ति स्थापना की जाती है तो कही गरबा खेला जाता है। मुर्ति स्थापना और गरबा के अलावा भी अगर नवरात्रि में और कुछ खास है तो वो है नौ दिनों तक अलग अलग नौ रंगो के कपड़े पहनना। लेकिन क्या आपको पता है की इन अलग अलग रंग के कपड़ो पहनने की शुरुआत कहा से हुई? ये रंग कहा से आए, इनको सिर्फ नवरात्रि में ही क्यो पहना जाता है। इन रंगो का क्या महत्तव है ?

नवरात्रि में पहनेजानेवाले रंग पांचांग के हिसाब से होते है। पांचांग में प्रत्येक रंग का महत्तव और दिन का महत्व समझाया गया है। जिसके अनुसार हर दिन का एक अलग रंग चुना गया है। सोमवार को महादेव का दिन माना जाता है जिसके कारण सफेद रंग का कपड़ा पहना जाता है। मंगलवार को गणपति का दिन माना जाता है इसलिए मंगलवार को लाल रंग का कपड़ा पहना जाता है। शनिवार को शनि देव का दिन माना जाता है जिसके कारण शनिवार को काले रंग का कपड़ा पहना जाता है।

पंचांग के जानकार दा. कृ. सोमण का कहना है की हर दिन नवरात्रि में  महिलाओं को एक ही रंग की साड़ियां पहननती होती जिससे वह एस समान और एकजूट दिख सके, और साथ ही मन में सुरक्षा की भावना भी पैदा हो। एक रंग के कपड़े पहने से सभी लोगों में एक दूसरे की मदद करने की भावना भी पैदा होती है।

किस दिन कौन से रंग का कपड़ा

दिन रंग 
सोमवार
सफेद
मंगलवार
लाल
बुधवार
हरा
गुरुवार
पीला
शुक्रवार
गुलाबी
शनिवार
ग्रे और काला


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दें) 

संबंधित विषय