शिक्षा मंत्री ने छुड़ाया अपना पिंड, कहा- स्कूलों को बंद करने का निर्णय अब लेगी बीएमसी


SHARE

बारिश के बीच स्कूल बंद नहीं करने के निर्णय को लेकर विवादों में आने वाले शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने अब कहा है कि स्कूलों को बंद करने का निर्णय बीएमसी का है। तावड़े बारिश की स्थिति का जायजा लेने नागपुर से मुंबई आए थे। आपको बता दें कि मंगलवार को कई छोटे छोटे बच्चे मूसलाधार बारिश के बीच स्कूल जाते समय घंटों सड़क जाम पर अटके रहे, लेकिन प्रशासन ने अपना पल्ला झड़ते हुए कहा कि अगर स्कूल चाहे तो छुट्टी हो सकती है ताकि कुछ होने पर प्रशासन अपना पिंड छुड़ा सके।

'स्कूल को बंद करने का अधिकार बीएमसी के पास'
बुधबार को शिक्षा मंत्री बीएमसी कमिश्नर अजोय मेहता सहित अन्य अधिकारियों के साथ मीटिंग की। बीएमसी के आपतकालीन स्थिति का जायजा करने पहुंचे तावड़े ने कहा कि अब स्थिति का निरीक्षण करने के बाद सुबह 6 बजे ही स्कूलों को बंद करने या नहीं करने घोषणा की जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि स्कूल को बंद करने का अधिकार बीएमसी लेगा और यह सभी स्कूलों बीएमसी, प्राइवेट, CBSE, ICSE और IB पर लागू होगा।

 
'प्रमुख विभाग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करके लेंगे निर्णय' 
इस तरह की कार्य समिति का रेलवे, MMRDA, म्हाडा, MMRC, BEST और पुलिस विभाग के प्रमुख ही करेंगे। मौसम विभाग से चेतावनी आने के बाद, एक्शन कमेटी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के साथ इस पर चर्चा करेगी और तय करेगी कि इसके लिए क्या कदम उठाए जाएंगे। तावड़े ने स्पष्ट किया है कि यदि बाढ़ की स्थिति पैदा हुई तो इसे दूर करने के लिए कार्य समिति द्वारा तुरंत उपाय भी किये जाएंगे।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें