मेडिकल के स्टूडेंट्स की 52 दिन बाद भूख हड़ताल समाप्त

 Azad Maidan
मेडिकल के स्टूडेंट्स की 52 दिन बाद भूख हड़ताल समाप्त
मेडिकल के स्टूडेंट्स की 52 दिन बाद भूख हड़ताल समाप्त
मेडिकल के स्टूडेंट्स की 52 दिन बाद भूख हड़ताल समाप्त
See all

सीएसटी - आजाद मैदान में भूख हड़ताल पर बैठे एसआरएमआई मेडिकल कॉलेज के छात्रों ने शुक्रवार को अपना भूख हड़ताल तोड़ दिया। ये छात्र पिछले 52 दिनों से भूख हड़ताल पर थे। सतारा जिले के मायनी गाँव के एसआरएमआई मेडिकल कॉलेज के सेकेण्ड इयर के रिजल्ट में करीब 100 छात्रों के साथ घालमेल किया गया था। सरकार के द्वारा इन छात्रों के साथ हुए नुकसान पर सकारात्मक प्रतिसाद मिलने के कारण इन छात्रों ने अपनी भूख हड़ताल समाप्त की।


इन छात्रों ने साल 2014-15 के दौरान द्वितीय वर्ष की प्रवेश परीक्षा का इम्तिहान दिया था जिसमें इन्हें फेल कर दिया गया। नाराज छात्रों ने फिर से परीक्षा दिया लेकिन संबंधित महाविद्यालय की तरफ से छात्रों का परिणाम देरी से घोषित किया गया जिसके कारण इनका प्रवेश महाविद्यालय ने नहीं लिया।


इस मामले को लोगो ने प्रवेश नियंत्रण समिती के पास उठाया। समिति ने छात्रों के हक़ में फैसला सुनाते हुए महाविद्यालय को प्रति विद्यार्थी 20 लाख रूपये के हिसाब से 100 छात्रों को मुआवजा देने का आदेश दिया था लेकिन अभी तक महाविद्यलय की तरफ से मात्र 10 फीसदी ही रकम दियागया है। जिससे नाराज छात्रों ने कोर्ट की शरण ली थी। अब सरकार ने भी छात्रों का समर्थन करते हुए महाविद्यालय को जल्द से जल्द मुआवजा देने का आदेश सुनाया था लेकिन आदेश के क्रियान्वन के लिए सरकार ने भी कुछ कदम नहीं उठाया, जिससे कारण छात्र भूख हड़ताल पर बैठ गये थे। लेकिन उसके बाद सरकार ने जल्द मामला सुलझाने का आश्वसन दिया जिसके बाद छात्रों ने अपना भूख हड़ताल समाप्त किया।

इतने दिन के नष्ट हुए समय की भरपाई के लिए यूनियन प्रमुख प्रफुल्ल पाटिल ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री और मेडीकल कॉन्सिल ऑफ़ इंडिया दोनों मिल कर सलाह मशविरा करके यूनियन स्टूडेंट को इसकी जानकारी देंगे। इन्होने यह भी कहा कि अगर कोई सही समाधान नहीं निकाला गया तो फिर से भूख हड़ताल पर बैठ जायेंगे।

Loading Comments