Advertisement

मुंबई यूनिवर्सिटी के परीक्षा विभाग इमारत की छत का गिरा प्लास्टर, कोई जख्मी नहीं

कलीना स्थित मुंबई यूनिवर्सिटी (mumbai university) के परीक्षा विभाग वाली इमारत के छत का प्लास्टर गुरूवार को अचानक टूट कर नीचे गिर पड़ा। गनीमत रही कि इस हादसे में कोई जख्मी नहीं हुआ। इस हादसे का कारण इमारत की दयनीय स्थिति को बताया जा रहा है।

मुंबई यूनिवर्सिटी के परीक्षा विभाग इमारत की छत का गिरा प्लास्टर, कोई जख्मी नहीं
SHARES

 

कलीना स्थित मुंबई यूनिवर्सिटी (mumbai university) के परीक्षा विभाग वाली इमारत के छत का प्लास्टर गुरूवार को अचानक टूट कर नीचे गिर पड़ा। गनीमत रही कि इस हादसे में कोई जख्मी नहीं हुआ। इस हादसे का कारण इमारत की दयनीय स्थिति को बताया जा रहा है।

गुरूवार शाम को इमारत की तीसरी मंजिल के छत का प्लास्टर जब गिरा, तब वहां न तो कोई छात्र उपस्थित था न ही कोई टीचर। वर्ना स्थिति गंभीर हो सकती थी। इस हादसे के बाद से एक बार फिर युनिवर्सिटी प्रशासन की लापरवाही सामने आ गयी।

यूनिवर्सिटी से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि, इमारत की स्थिति काफी जर्जर है, कई बार शिकायत करने के बाद भी मरम्मत का कार्य नहीं किया गया। सूत्र के अनुसार एक नए परीक्षा भवन का निर्माण किया गया है लेकिन अभी तक वहां पर परीक्षा भवन के स्टाफ को ट्रांसफर नहीं किया गया है।

बताया जा रहा है कि 4 महीने पहले ही प्रशासन की तरफ से मरम्मत का कार्य करने का आश्वासन दिया गया था लेकिन उसे अमली जामा है पहनाया जा सका। सवाल उठ रहा है कि शिकायत मिलने के बाद भी आखिर क्यों  इमारत के मरम्मत का कार्य नहीं किया गया. क्या किसी बड़े हादसे का इंतजार है? 

आपको बता दें कि पिछले साल भी विश्वविद्यालय की अन्य इमारतों जैसे छात्रावास के छत की प्लास्टर गिरने की घटना 1 से 2 घट चुकी है, कलिना के ही रानाडे भवन की छत का कुछ हिस्सा भी इसी तरह से गिर गया था जिसमें घटना में तीन छात्र घायल हो गए।

एक के बाद एक होती इन घटनाओं से प्रशासन किसी तरह की कोई सीख नहीं ले रहा है। प्रशासन की इस लापरही का शिकार यूनिवर्सिटी के छात्र या टीचर्स बन सकते हैं। इसीलिए प्रशासन को तत्काल कोई कदम  उठा कर जर्जर हो चुकी इमारतों की मरम्मत का कार्य करना चाहिए।

 

Read this story in मराठी or English
संबंधित विषय