Advertisement

महाराष्ट्र : कॉलेज खुले, कैम्पस में ही शुरू हो सकता है वैक्सीनशन अभियान

राजेश टोपे ने बताया कि, कॉलेज के छात्रों के टीकाकरण अभियान (vaccination drive) के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा, इस संबंध में चर्चा चल रही है।

महाराष्ट्र : कॉलेज खुले, कैम्पस में ही शुरू हो सकता है वैक्सीनशन अभियान
संग्रहित फोटो
SHARES

कोरोना महामारी (corona pandemic) में कमी आने के बाद राज्य सरकार की तरफ से कई प्रकार की छूट और ढील दी गई है। जिसके तहत बुधवार से कॉलेज भी शुरू हो गए हैं। हालांकि टीकाकरण को लेकर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (rajesh tope) ने इस संबंध में अहम जानकारी दी है। राजेश टोपे ने बताया कि, कॉलेज के छात्रों के टीकाकरण अभियान (vaccination drive) के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा, इस संबंध में चर्चा चल रही है।

राजेश टोपे ने उच्च और तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत (uday samant) के साथ छात्र टीकाकरण पर चर्चा की। चर्चा के दौरान राजेश टोपे ने कहा कि अब जबकि कॉलेज शुरू हो गए हैं तो हमें 18 साल और उससे कम उम्र केे छात्रों का भी टीकाकरण करना होगा। इसके लिए विशेष अभियान चलाना होगा। साथ ही टीकाकरण के बाद भी ध्यान रखे जाने का मुद्दा भी है। और इस से संबंधित जो किट है उसे उपलब्ध कराना ही होगा।

जबकि इस बारे में उदय सामंत ने भी कहा कि, स्वास्थ्य विभाग की निदेशक अर्चना पाटिल के साथ भी बैठक हो रही है। इसमें हम चर्चा कर रहे हैं कि कैंपस में टीकाकरण कैसे किया जाए, ताकि छात्रों को पहली और दूसरी खुराक कैंपस में ही दी जा सके। हम छात्रों के लिए यह बड़ा अभियान अगले सप्ताह शुरू करने पर विचार कर रहे हैं।साथ ही अगर आज से कॉलेज शुरू नहीं होते हैं तो वे 21 और 22 तारीख से शुरू करें। हालांकि, इन कॉलेजों को 25 दिनों के भीतर शुरू किया जाना चाहिए।  

उदय सामंत ने आगे यह भी कहा कि अगर कोई त्रुटि होगी तो सरकार भी उनकी मदद करेगी।

इस बीच, कोरोना (covid19) प्रतिबंधों में ढील के बाद तीसरी लहर की आशंका जताई जा रही है। इस बारे में बात करते हुए टोपे ने कहा, हमने सब कुछ शुरू किया है पूरी तैयारी की गई है। पूरी दुनिया में तीसरी लहर आई लेकिन वह माइल्ड सिम्पटम्स वाली थी और और वह खतरनाक भी नहीं थी।

मुंबई लोकल ट्रेन (mumbai local train) के मुद्दे पर उन्होंने जानकारी देते हुए टोपे ने बताया कि, मुख्यमंत्री की मुंबई लोकल पर पैनी नजर है। वह यात्रियों पर लगी पाबंदियों को लेकर चिंतित हैं। वे टास्क फोर्स से बात करने के बाद वे निर्णय लेंगे।

बकौल टोपे, दिवाली के कुछ दिनों बाद अगर पॉजिटिविटी रेट नहीं बढ़ता है या पॉजिटिव मरीजों की संख्या नहीं बढ़ती है तो मुख्यमंत्री सभी के लिए सार्वजनिक सेवाओं के शुभारंभ के संबंध में सकारात्मक निर्णय ले सकते हैं।

पढ़ेंकॉलेज के उन छात्रों की बन रही सूची जिनका नही हुआ है टीकाकरण

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें