इंटरव्यू - गोल्डी बहल का स्टार प्लस पर महा'आरंभ’

Mumbai
इंटरव्यू - गोल्डी बहल का स्टार प्लस पर महा'आरंभ’
इंटरव्यू - गोल्डी बहल का स्टार प्लस पर महा'आरंभ’
इंटरव्यू - गोल्डी बहल का स्टार प्लस पर महा'आरंभ’
इंटरव्यू - गोल्डी बहल का स्टार प्लस पर महा'आरंभ’
इंटरव्यू - गोल्डी बहल का स्टार प्लस पर महा'आरंभ’
See all
मुंबई  -  

ये कहानी है हजारों साल पहले की। देवसेना एक शक्तिशाली रानी, जो अपने राज्य की रक्षा में जुटी है। पर वहीं आक्रमण के लिए तैयार है वरुण देव। इस ऐतिहासिक सीरियल का नाम 'आरंभ' है। जो 24 जून से स्टार प्लस पर धूम मचाने आ रहा है। इसके डायरेक्टर गोल्डी बहल हैं। तो वहीं स्क्रिप्ट राइटर के वी विजयेंद्र प्रसाद हैं, जिन्होंने बाहुबली और बाहुबली 2 जैसी बड़ी फिल्में लिखी हैं।

गोल्डी बहल 90 के दशक की एक्ट्रेस सोनाली बेंद्रे के पति हैं। ऐसी खबरें आ रही थी कि 'आरंभ’ के कुछ एपिसोड सोनाली डायरेक्ट करेंगी, जिस पर से गोल्डी ने पर्दा उठाया है। इसके अलावा गोल्डी ने विविध मुद्दों पर हमसे खुलकर बातचीत की।

कहानी और स्टार

पूछे जाने पर कि गोल्डी बहल ने 'आरंभ' को क्यों डायरेक्ट करना चाहा ? इस पर उन्होने कहा, फिल्मों  के लिए कोई अच्छी कहानी नहीं मिली,  नाही कोई स्टार मिला। यहां पर एक बेहतरीन कहानी के साथ-साथ स्टार (स्टार प्लस टीवी चैनल) भी मिल गया। एक डायरेक्टर को इसके अलावा और क्या चाहिए।

कार्तिका ही देवसेना क्यों

वैसे तो 'बाहुबली' की देवसेना यानी अनुष्का शेट्टी से हरकोई परिचित है। पर हम बात कर रहे 'आरंभ’ में देवसेना का किरदार निभाने वाली कार्तिका नायर की। जो कि साउथ की अभिनेत्री हैं। कार्तिका 'आरंभ’ के प्रोमो में हाथी की सवारी करने के अलावा तलवारी बाजी में भी प्रवीण दिख रही हैं। हमने गोल्डी से पूछा कि कार्तिका को ही देवसेना के किरदार के लिए क्यों चुना गया? इस पर उन्होंने कहा, कार्तिका इस किरदार के लिए हमे परफेक्ट लगीं। हमें एक योद्धा राजकुमारी की जरूरत थी। साथ ही उसे दक्षिण भारत से आई हुई राजकुमारी लगना चाहिए। उनकी आंखो में भी गजब का तेज है जो मुझे काफी पसंद आया है। यही वजह है कि देवसेना के किरदार के लिए हमने कार्तिका को चुना।

बाहुबली वाला कनेक्शन

'आरंभ' के प्रोमो और उसके किरदार का नाम देवसेना सुनकर लोग कयास लगाने लगे थे कि यह सीरियल बाहुबली की ही कहानी का हिस्सा होगा। पर 'आरंभ' के डायरेक्टर इससे बिलकुल भी सहमत नहीं हैं। उनका कहना है कि 'बाहुबली' और 'आरंभ' के राइटर एक हैं और देवसेना नाम एक है। इसके अलावा इन दोनों के बीच कोई समानता नहीं है। शायद राइटर और देवसेना नाम की वजह से ही लोग इस तरह के कयास लगा रहे हैं।  

सोनाली डायरेक्टर नहीं

लगातार ऐसी खबरें आ रही थी कि एक्ट्रेस सोनाली बेंद्रे को 'आरंभ’ की स्क्रिप्ट इतनी ज्यादा पसंद आई कि वे इसे डायरेक्ट करना चाहती थीं। पर इससे गोल्डी बहल ने पर्दा उठा दिया है। उन्होंने कहा, नहीं सोनाली बेंद्रे 'आरंभ’ का कोई भी एपिसोड डायरेक्ट नहीं कर रही हैं। यह सिर्फ अफवाह है।  

तनुजा मुखर्जी बनी गुरु मां

73 वर्षीय तनुजा मुखर्जी एक्ट्रेस काजोल की मां हैं। वे 'आरंभ' सीरियल से टीवी में डेब्यू कर रही हैं। गोल्डी बहल से जानते हैं कि उनका किरदार क्या है?

तनुजा 'आरंभ' में एक गुरु मां का किरदार निभा रही हैं। उन्हें बीच बीच में सपने आते हैं, वे सपने इसलिए आते हैं ताकि वे राज्य की रानी और होने वाली रानी को सही रास्ता दिखा सकें। उनके इर्द गिर्द उनके पालतू सांप लिपटे रहते हैं। जब तनुजा यानी गुरु मां घबराती हैं तो सांप नाराज हो जाते हैं। वही सांप उनके सोचने के लिए शक्ती प्रदान करते हैं।

'आरंभ' का आरंभ बड़ा संघर्ष

निश्चित रुप से हर प्रोजेक्ट को पूरा करने में मुश्किलों का सामना तो करना ही पड़ता है। पर आज के समय में जब बजट कम हो और आपकी सोच बेहतर से बेहतर करने की हो तो ऐसे में मुश्किलें कुछ ज्यादा ही बढ़ जाती हैं। इस पर  गोल्डी बहल का कहना है, 'आरंभ' को हम दर्शकों के साामने ऐसे पेश करना चाहते थे कि उन्हें यह सीरियल किसी बेहतर पिक्चर से कम ना लगे। उसी समय हमारे सामने बजट की भी समस्या थी। हम सबने इस प्रोजेक्ट के लिए कठिन परिश्रम किया है। आखिर कार हम सफल रहे। स्टोरी बेहतर होने के साथ साथ हमने 'आरंभ' में वीएफएक्स का  भी कमाल का उपयोग किया है।

Loading Comments

संबंधित ख़बरें

© 2018 MumbaiLive. All Rights Reserved.