'सिंटा' पर भड़की तनुश्र, नाना करेंगे क़ानूनी कार्रवाई


SHARE

नाना पाटेकर पर कोई भी कार्रवाई नहीं होता देख तनुश्री दत्ता ने में CINTAA (सिने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन) को आड़े हाथों लेते हुए उसकी उपयोगिता पर सवाल उठा दिए हैं। सिंटाको एक सकमजोर संस्था बताते हुए तनुश्री ने सिंटा पर #MeToo को समर्थन सिर्फ मीडिया को दिखाने का आरोप लगाया है। साथ ही अब तक सिंटा द्वारा लिए गए फैसलों से भी तनुश्री नाराज हैं।


'मीडिया को दिखा रहा है सिंटा'

मीडिया से बात करते हुए तनुश्री ने कहा कि इस मामले में सिंटा की तरफ से जो स्टैंड लिया है, उससे मैं निराश हूं। सिंटा की तरफ से कहा गया था कि वे नाना पाटेकर के साथ- साथ गणेश आचार्य, प्रोड्यूसर सामी सिद्दीक और डायरेक्टर राकेश सांरग के खिलाफ कड़ा एक्शन लेंगे, लेकिन अभी तक ऐसा कुछ भी नहीं किया गया है। जबकि सिंटा ने 10 साल पहले मेरी सेक्सुअल हैरेसमेंट की शिकायत पर सही से एक्शन ना लेने पर पब्लिक में माफी मांगी थी। लगता है सिंटा ऐसा केवल मीडिया को दिखाने के लिए ही कह रहा था।

ये कैसा सपोर्ट है?

अक्षय कुमार की फिल्म हाउसफुल-4 से बाहर निकाले जाने की बात पर उन्होने कहा कि नाना के 6 दिन के शूट को फाइनल कर लिया गया है। नाना के सीन्स फिल्म में रहेंगे, ये कैसा सपोर्ट है? क्या सिर्फ इमेज के लिए नाना को हटाया गया?''

'सरकार के मंत्री ने भी इस्तीफा'

उन्होने आगे कहा कि बड़े-बड़े प्रोडक्शन हाउस ने #MeToo के चलते बड़े लोगों को बाहर निकाल दिया, यहां तक कि सरकार के मंत्री ने भी इस्तीफा दे दिया है, तो ऐसे में सिंटा द्वारा कार्रवाई न करना हास्यास्पद है। ऐसे संगठन भरोसे के लायक नहीं हैं, ये कमजोर संस्था है।

नाना ने भी दिया जवाब 

सिंटा ने तनुश्री दत्ता द्वारा लगाए गए सेक्शुअल हैरसमेंट के आरोपों पर नाना पाटेकर से जवाब मांगा था। नाना पाटेकर ने इसका जवाब देते हुए कहा कि तनुश्री दत्ता द्वारा उनके ऊपर लगाए गए सभी आरोप झूठे और बेबुनियाद हैं। मैं तनुश्री के खिलाफ लीगल ऐक्शन लूंगा। 

पढ़ें: नाना पाटेकर के बचाव में उतरे राज ठाकरे, मी टू अभियान को बताया ध्यान भटकाने का अभियान

संबंधित विषय