जल्द आ रहा है ‘मिर्जापुर’ का दूसरा सीजन

फरहान अख्तर ने कहा, यह देखना बेहद रोमांचक है कि जिस तरह के कंटेंट का हम निर्माण कर रहे हैं, उसे वैश्विक दर्शकों द्वारा पसंद किया जा रहा है। इसकी शुरुआत अंतर्राष्ट्रीय एमी के लिए नामांकित ‘इनसाइड एज’ के साथ हुई थी और अब ‘मिर्जापुर’ को पूरे भारत में और विश्वभर में देखा और पसंद किया जा रहा है।

SHARE

‘मिर्जापुर’ के पहले सीजन में शानदार प्रदर्शन के लिए दर्शकों से जबरदस्त प्रतिक्रिया प्राप्त करने के बाद, अब दूसरे सीजन को हरी झंडी मिल गयी है।

मिर्जापुर के पहले सीजन के सभी एपिसोड अमेजन प्राइम वीडियो पर 200 से अधिक देशों और क्षेत्रों में उपलब्ध हैं। प्राइम ओरिजिनल सीरीज मिर्जापुर के पहले सीजन के प्रीमियर के दो महीने के भीतर, अमेजन प्राइम वीडियो ने शो के दूसरे सीजन की घोषणा कर दी है जिसे दर्शकों और आलोचकों द्वारा समान रूप से पसंद किया गया है।

एक्सेल मीडिया एंड एंटरटेनमेंट द्वारा निर्मित, पुनीत कृष्णा द्वारा रचित और गुरमीत सिंह द्वारा निर्देशित, मिर्जापुर के सीजजन दो में मिर्जापुर की हिंसक दुनिया की कहानी को दर्शाया जाएगा, जो सत्ता के लालच में, लोगों को बदल देती है और उनसे बलिदान की मांग करते है। यह शो दुनिया भर के 200 से अधिक देशों और क्षेत्रों में प्राइम वीडियो पर रिलीज होने से पहले इस साल से प्रोडक्शन पर काम शुरू किया जाएगा।

अमेजन प्राइम वीडियो ने यूके, जर्मनी, इटली, स्पेन, भारत, जापान और मैक्सिको में प्रोडक्शन में जाने के लिए तैयार 20 से अधिक नई मूल श्रृंखला की भी घोषणा की है। ‘मिर्जापुर’ का सीजन दो भारत के सात मूल श्रृंखला का हिस्सा है।

एक्सेल मीडिया एंड एंटरटेनमेंट से फरहान अख्तर ने कहा, यह देखना बेहद रोमांचक है कि जिस तरह के कंटेंट का हम निर्माण कर रहे हैं, उसे वैश्विक दर्शकों द्वारा पसंद किया जा रहा है। इसकी शुरुआत अंतर्राष्ट्रीय एमी के लिए नामांकित ‘इनसाइड एज’ के साथ हुई थी और अब ‘मिर्जापुर’ को पूरे भारत में और विश्वभर में देखा और पसंद किया जा रहा है। हमें खुशी है कि दोनों शो का दूसरा सीजन आ रहा है जिससे हमें एक वैश्विक मंच पर भारतीय कहानियों को प्रदर्शित करने का एक और मौका मिला है।

‘मुर्जापुर’ दो भाइयों की कहानी है जो सत्ता के आईडिया से प्रभावित है, मिर्जापुर भारत के दिल और युवाओं का एक बड़ा चित्रण है। यह एक ऐसी दुनिया है जो नशीली दवाओं, बंदूकें और अयोग्यता से भरी हुई है, जहां जाति, शक्ति, अहंकार और हिंसा ही जीवन का एकमात्र तरीका है।  

संबंधित विषय