'ठाकरे' की स्पेशल स्क्रीनिंग: डायरेक्ट हुए नाराज, फिल्म देखे बिना थियेटर छोड़ कर निकले

सोशल मीडिया में इसका एक विडियो वायरल हो रहा है। इस विडियो में पानसरे को शिवसेना के सांसद संजय राउत के साथ बहस करते फिर परिवार सहित स्क्रीनिंग छोड़ कर जाते हुए देखा जा सकता है।

SHARE

शिवसेना के प्रमुख दिवंगत बालासाहेब ठाकरे की बायोपिक 'ठाकरे' 25 जनवरी को रिलीज हो रही है। इस मौके पर बुधवार शाम को वरली के आईनोक्स थियेटर में 'ठाकरे' की स्पेशल स्क्रीनिंग रखी गयी थी। लेकिन इस स्क्रीनिंग में कुछ ऐसा हुआ जिसकी किसी ने कल्पना तक नहीं की होगी। दरअसल स्क्रीनिंग के दौरान फिल्म के डायरेक्ट अभिजित पानसे नाराज होकर स्क्रीनिंग देखे बिना है परिवार सहित चले गये। अभिजित पानसे नाराज क्यों हुए थे पढ़िए आगे।

क्या है मामला?
बताया जा है कि पानसरे अपने परिवार के साथ 'ठाकरे' की स्क्रीनिंग देखने पहुंचे थे। लेकिन उन्हें पहुंचने में जरा देर ही गयी थी। स्क्रीनिंग देखने के लिए उनके और उनके परिवार के लिए हॉल में पीछे की सीटें रिजर्व रखी गयी थीं, लेकिन वहां पहुंचने के बाद पानसे और उनकी फैमिली को आगे की सीटों पर बैठने के लिए कहा गया। आयोजकों के इस तरह के व्‍यवहार से अभिजीत नाराज हो गए और फिल्‍म को देखे बिना हॉल से बाहर आ गए। 

सोशल मीडिया में इसका एक विडियो वायरल हो रहा है। इस विडियो में पानसरे को शिवसेना के सांसद संजय राउत के साथ बहस करते फिर परिवार सहित स्क्रीनिंग छोड़ कर जाते हुए देखा जा सकता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, राउत ने पानसे को समझाने की कोशिश भी की लेकिन वह नहीं माने।  

इस बात की भी जानकारी सामने आ रही है कि मात्र स्पेशल स्क्रीनिंग में ही नहीं बल्कि फिल्म का डायरेक्टर होने के बावजूद भी अभिजित पानसे हर मौके पर पीछे रखा गया। चाहे सिनेमा की घोषणा करने के समय हो या फिर फिल्म का ट्रेलर लॉंच करते समय या फिर फिल्म का संगीत लॉं करने का समय। कई ख़ास मौके पर पानसे नजर नहीं आते थे, केवल संजय राउत के साथ-साथ लीड कैरेक्टर निभा रहे नवाजुद्दीन सिद्दीकी और अमृता राव ही नजर आती थीं।

अब इस मामले में राज ठाकरे की पार्टी महाराष्‍ट्र नवनिर्माण भी कूद पड़ी है। मनसे सोशल मीडिया पर अभिजित पानसे के समर्थन में  #Isupportabhijitpanse नामसे एक कैम्पेन चला रही है। इस मामले में मनसे के नेता संदीप देशपांडे ने कहा कि हमारी बात अभिजित पानसे के साथ हुई, उन्होंने कहा कि पानसे ने उनसे बात करते हुए बताया कि वे बालासाहेब  ठाकरे से प्‍यार करते हैं, इसलिए उन्‍होंने यह फिल्‍म बनाई। 

यही नहीं मनसे के एक नेता ने ट्वीट करते हुए यह भी कहा कि शिवसेना पानसे को वह क्रेडिट नहीं देगी जिसे वह डिजर्व करते हैं। वह सिर्फ उन्हें फिल्‍म बनाने के लिए इस्‍तेमाल करेगी। 

संबंधित विषय