Advertisement

Cyclone nisarga: निसर्ग ने रास्ता बदला है, मुंबई का खतरा टला नहीं है- मौसम विभाग

BMC ने इस आपातकाल में हेल्पलाइन नंबर 1916 नंबर जारी किया है और सहायता के लिए 4 दबाने का निर्देश दिया है।

Cyclone nisarga: निसर्ग ने रास्ता बदला है, मुंबई का खतरा टला नहीं है- मौसम विभाग
SHARES
Advertisement


भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने बताया है कि निसर्ग तूफान ने रास्ता बदला है लेकिन मुंबई के लिए के खतरा कम नहीं हो रहा है। IMD ने अगले छह घंटों में निसर्ग तूफान की तीव्रता कम हो जाएगी। इस तूफान ने अब ठाणे के रास्ते से उत्तर महाराष्ट्र की ओर रुख किया है।  हालांकि तूफान ने दिशा बदल दी है, लेकिन मुंबई के लिए खतरा कम नहीं हुआ है।

निसर्ग द्वारा तेज हवाओं के कारण मुंबई हवाई अड्डे पर हवाई यातायात प्रभावित हुआ है और शाम 7 बजे तक मुंबई हवाई अड्डे पर यातायात निलंबित कर दिया गया है।  तूफान ने रायगढ़ जिले के कुछ हिस्सों में मोबाइल सेवाओं को बाधित कर दिया है। स्थानीय  जिला कलेक्टर निधि चौधरी ने बताया कि रायगढ़ में 110 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं।

मौसम विभाग के अनुसार, उत्तरी महाराष्ट्र में चक्रवात आने की संभावना है, जिससे जिले के कुछ हिस्सों में भारी बारिश, ओलावृष्टि और तूफान हो सकता है।  इसलिए, नाशिक शहर और जिले के नागरिकों को आपदा प्रबंधन विभाग के निर्देशों का पालन करना चाहिए और सुरक्षा के लिए बाहर जाने से बचना चाहिए।

किसी भी आपात स्थिति के लिए, मुंबई फायर ब्रिगेड को सतर्क रहने के लिए कहा गया है और 93 लाइफगार्ड मुंबई में छह समुद्र तटों पर तैनात किए गए हैं।  मुंबई के विभिन्न हिस्सों में आठ एनडीआरएफ और पांच नौसेना इकाइयों को तैनात किया गया है। इसके अलावा कोलाबा, वर्ली, बांद्रा, मलाड, बोरिवली में 3 और अंधेरी में एक-एक टीमों को तैनात किया गया है।

तूफान को देखते हुए BMC ने लगभग 35 स्कूलों में नागरिकों को अस्थायी आश्रय प्रदान की व्यवस्था की है। BMC ने इस आपातकाल में हेल्पलाइन नंबर 1916 नंबर जारी किया है और सहायता के लिए 4 दबाने का निर्देश दिया है।

संबंधित विषय
Advertisement