लगातार हो रहे निर्माणकार्य की वजह से हो रही मुंबई की हवा खराब

समुद्र के किनारे शहर होने के बावजूद भी मुंबई में प्रदुषण का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है।

SHARE

वायु प्रदूषण मेट्रोपॉलिटन शहरों के लिए पिछलें कई सालों से एक गहरी समस्या बनी हुई है। जिससे ना ही सिर्फ शहर की हवा खराब हो रही है बल्की शहर में रहनेवाले लोगों को कई तरह की बीमारियों का सामना भी करना पड़ रहा है। समुद्र के किनारे शहर होने के बावजूद भी मुंबई में प्रदुषण का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है।

मुंबई दुनिया का चौथा सबसे प्रदूषित मेगा शहर

हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की रिपोर्ट के अनुसार, मुंबई दुनिया का चौथा सबसे प्रदूषित मेगा शहर के रुप में सामने आया है। मुंबई दुनिया के 400 शहरों में 63 वें सबसे प्रदूषित शहर के रूप में भी आगे आया। विशेषज्ञों ने कहा कि बढ़ते औद्योगिकीकरण और अधिक निर्माण के कारण, शहर में हवा की गुणवत्ता और भी खराब होती जा रही है।

डॉक्टरों का कहना है की गर्मी और धूल के कारण पर्यावरण का स्तर गिरता जा रहा है। जिससे धूल और जहरीले गैसों के कारण बच्चों और वयस्कों के स्वास्थ पर इसका असर हो रहा है।

यह भी पढ़े- मलाड के माइंड स्पेस में मिली लड़की की लाश

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें