Advertisement

Nisarga cyclone : मुंबई में निसर्ग तूफान ने दी दस्तक, कई इलाकों में हवा के साथ तेज बारिश शुरू


Nisarga cyclone : मुंबई में निसर्ग तूफान ने दी दस्तक, कई इलाकों में हवा के साथ तेज बारिश शुरू
SHARES
Advertisement

मुंबई (mumbai) से सटे अलीबाग (alibaug) में निसर्ग तूफान ( nisarga cyclone) आ चुका है, वहां 100 किमी से भी अधिक रफ्तार से हवा चल रही है। मुंबई में भी कई इलाकों में बारिश शुरू हो गई है और तेज हवा भी चल रही है। कई इलाके से पेड़ों के गिरने की भी खबर है। तो क्या मुंबई में भी निसर्ग साइक्लोन ने दस्तक दे दी है। तूफान को देखते हुए प्रशासन पूरी तरह से चौकन्ना है। मुंबई, निसर्ग की मुसीबत से निपटने के लिए तैयार है। IMD के मुताबिक यह दोपहर 3 बजे तक 120 किलोमीटर की रफ्तार से समुद्र तट से टकरा सकता है।

सुरक्षा के मद्देनजर मुंबई में धारा 144 (section 144) लगाई गई है, साथ ही लॉकडाउन (lockdown) में मिलने वाली दो दिनों की छूट को भी समाप्त कर दिया गया है। लोगों से सैर-सपाटे के लिए समुद्री तटों पर नहीं जाने को कहा गया है। पार्कों में जाने पर रोक है। लोगों से घरों में रहने की अपील की गई है।

शहर में 12 पेड़, पूर्वी उपनगरों में 7 और पश्चिमी उपनगरों में 18 पेड़ गिरने के कुल 37 मामले सामने आए हैं। मुंबई के बोरीवली, दादर, बांद्रा, अंधेरी पश्चिम, परेल, मुलुंड जैसे क्षेत्रों में सुुबह से ही रिमझिम बारिश हो रही है

लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। तेज हवाओं और बारिश के साथ कई जगहों पर पेड़ टूटकर गिर गए हैं। तेज हवा और बारिश के बीच लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी जा रही है।वहीं, तटीय इलाकों में जाने से रोका गया है। तूफान के मद्देनजर बांद्रा-वर्ली सी लिंक पर ट्रैफिक की आवाजाही रोक दी गई है।

इस तूफान को देखते हुए प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट मोड पर है। मुंबई में NDRF की 8 टीमें, रायगढ़ में 5 टीमें, पालघर में 2 टीमें, थाने में 2 टीमें, रत्नागिरी में 2 टीमें और सिंधूदुर्ग में 1 टीम की तैनाती है। तो वहीं, कुछ टीमों को स्टैंडबाई पर रखा गया है। इसके अलावा नेवी को भी तैयार रहने को कहा गया है।

NDRF और बीएमसी की सहायता से वर्सोवा के समुद्री तटों से कई लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया गया है। साथ ही मुंबई से सटे अलीबाग और महाराष्ट्र के अन्य स्थानों से लगभग 40,000 लोगों को हटा दिया गया है।

संबंधित विषय