समुद्री किनारों पर विषैली जेलफिश, संभल कर टहलें


SHARE

मुंबई के समुद्री किनारों पर जेली फिश देखे जाने के बाद मत्स्य विभाग ने लोगों को समुद्री किनारे पानी में नहीं जाने की अपील की है। हालांकि जेली फिश के डंक मारने से कुछ खतरा तो नहीं होता लेकिन काफी पीड़ादायक होता है। मुंबई के गिरगांव और जुहू में ये जेलीफिश बहुतायत संख्या में दिखने को मिल रही है।
 
जेली फिश होती हैं विषैली 
मत्स्य पालन विभाग के राज्य आयुक्त अरुण विधाले के मुताबिक वजन में काफी हल्के होने कारण होने जेलीफिश, ब्लू जेली जैसे एक तरह की मछलियां तेज लहरों के साथ किनारों पर आ जाती हैं। अगर कोई व्यक्ति इनके सम्पर्क में आता है तो ये डंक मारती हैं जिससे व्यक्ति को काफी पीड़ा होती है, इससे शरीर लाल हो जाता है अथवा वह हिस्सा सुन्न भी हो जाता है। यही नहीं मनुष्य को बहरेपन की भी शिकायत हो सकती है.

काटने पर यह है उपचार 
विधाले के अनुसार इसके डंक मारने से किसी को घबराने की जरूरत नहीं है। पीड़ित व्यक्ति के काटे वाले स्थान पर विनेगर और थोड़ा गर्म पानी डालने से दर्द में कमी आती है। अधिक कष्ट होने पर डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें