SHARE

मुंबई मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (MMRCL) ने कारशेड बनाने के लिए आरे क्षेत्र में पेड़ो की कटाई शुरू कर दी है।  इस कदम के विरोध में प्रदर्शनकारी और कार्यकर्ता बड़ी संख्या में एकत्रित हुए हैं और अधिकारियों को ऐसा करने से रोकने की कोशिश कर रहे हैं।


कार्यकर्ताओं के दावे के अनुसार, अवैध रूप से पेड़ों को काटा जा रहा है।  नियमों के अनुसार पेड़ों को सूर्यास्त के बाद काटा नहीं जा सकता।  पेड़ काटने के आदेश को एक सरकारी वेबसाइट पर अपलोड करना पड़ता है और वेबसाइट पर अनुमति पोस्ट करने के 15 दिन बाद पेड़ों को काटा जा सकता है।


कई लोगों ने अपना गुस्सा और निराशा व्यक्त करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया है।  इससे पहले , बॉम्बे हाई कोर्ट (HC) ने सभी पर्यावरणीय कार्यकर्ताओं  को झटका दिया। बॉम्बे HC ने Aarey में मेट्रो 3 (Colaba-Bandra-Seepz) कार-शेड का विरोध करने वाली सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया और आगे फैसला सुनाया कि Aarey को जंगल नहीं माना जा सकता।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें