SHARE

गणेशोत्सव को पूरे राज्य में धूम धाम से मनाया जाता है। केंद्रिय वित्त मंत्री पियुष गोयल ने गणेशोत्सव को देखते हुए गणेश की मुर्तियों से जीएसटी को हटा दिया है। जिससे लोगों को लग रहा था की इस कदम के बाद गणेश जी की मुर्तियां सस्ती हो जाएगी। लेकिन सरकार के इस कदम के बाद भी मुर्तियों के दाम में कोई कमीं नहीं होनी वाली है।


दरअसल जीएसटी हटने के बाद भी गणेश जी की मुर्तिया बनाने में लगनेवाले सामानों से जीएसटी नहीं हटी है। पीओपी, रंगीन रंग, लकड़ी, लौह रॉड और अन्य वस्तुओं पर अभी भी जीएसटी लग रही है। जिसके कारण मुर्तियों के दाम में कमी होने की कोई भी संभावना नहीं है।मुंबई में गणेश जी की मुर्तियां 7 फूट से लेकर 22 फुट तक बनता ही जिनकी किमत 25 हजार से शुरु होकर लाखों तक जाती है।

मुर्तिकार राजू शिंदे का कहना है की हम सरकार के इस फैसले का स्वागत करते हैं। लेकिन पीओपी, रंगीन रंग, लकड़ी, लौह रॉड और अन्य वस्तुओं की खरीद के कारण मुर्तियों की किमत में कमी नहीं आ सकती, इसके साथ ही सरकार की जीएसटी ना लगाने के फैसले को भी आगे जारी रखना चाहिए।

मुर्तिकार राहूल घोणे का कहना है की सरकार को ये फैसला दो से तीन महीने पहले ही ले लेना चाहिए था। गणेशोत्सव के कुछ दिनों पहले ये फैसला लेने के कारण मुर्तियों के दाम में तुरंत कोई कमीं नहीं आ सकती है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें