गणेशोत्सव विशेष – गणपति दर्शन पैकेज की बढ़ रही मांग

कई टूर्स एंड ट्रवल्स कंपनियां पंडालों के दर्शन कराने के लिए इस तरह की स्किम दे रहे है

SHARE

गणेशोत्सव की शुरुआत पूरे देश में धूमधाम के साथ हो गई है। सोमवार को भक्तों के ने बप्पा की मुर्तियों की स्थापना की।  मुंबई के साथ साथ पूरे महाराष्ट्र में गणेशोत्सव बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। मुंबई का लागबाग इलाका देश के सबसे पूराने गणपति पंडालों के लिए जाना जाता है।  इसके साथ ही इस इलाके में एक से बढ़कर एक गणपति बप्पा की लंबी और आकर्षित मुर्तियां लाई जाती है। गणेशोत्सव के दौरान  देश के कोने कोने से लोग लालबाग इलाके में बप्पा के दर्शऩ करने आते है फिर चाहे वह लालबाग के राजा हो या फिर गणेश गल्ली के बप्पा।  ऐसे में लोगों को बप्पा के दर्शन कराने के लिए टूर्स एंड ट्रवल्स वाले कई तरह के ऑफर भी निकालते है। 


बप्पा के दर्शन करने का पैकेज

गणेशोत्सव के दौरान मुंबई में टूर्स एंड ट्रवल्स कंपनियां ऐसे कई तरह की योजनाएं लाते है जिसमें लोग कम समय में ज्यादा से ज्यादा गणपति मुर्तियों के दर्शन कर सकते है।  लालगबाग इलाके में कई गणपति की मुर्तियां और पांजाल है जो कई सालों पूराने है। इन पांडालों को देखने के लिए दूर दूर से लोग आते है। ऐसे में कई लोग ऐसे भी होते है जो परिवार के साथ गणपति देखने आते है लेकिन साधन और समय ना होने के कारण  ऐसे लोग बप्पा की ज्यादा पंडालों के दर्शन नहीं कर पाते है।  ऐसे लोगों के लिए टूर्स एंड ट्रवल्स की कंपनियां कम पैसों एक परिवार के लिए या फिर ग्रुप के लिए ज्यादा से ज्यादा गणपति पंडाल देखने के लिए स्किम लेकर आते है। 

300 रुपये से पैके शुरु

ठिक इसी तरह एक स्कीम चलानेवाले ड्रीम डेस्टीनेशन कंपनी का कहना है की "भक्तों की सुविधा के लिए हमने इस तरह की स्किम शुरु की है, जहां पर प्रति यात्री ये पैकेज 300 रुपये से शुरु होता है. 300 रुपये में कंपनी लालबाग इलाके में कई पंडालों के दर्शन कराती है , हम भक्तों को सिर्फ गाड़ी और स्नैक्स देते है, बाकी पंडाल में जाकर दर्शन करना उनकी जिम्मदारी होती है , हम किसी भी भक्त को पंडाल के अंदर नहीं ले जाते है , हम उन्हे सिर्फ पंडाल के बाहर तक छोड़ते है जिसके बाद भक्त बप्पा के दर्शन कर पंडाल से बाहर आकर गाड़ी में बैठकर अगले पंडाल की ओर चलते है, ये पूरा पैकेज 4 घंटो का होता है , हम आपको नजदिकी स्टेशन से पिक करते है और फिर समय खत्म होने के बाद नजदीकी स्टेशन पर ड्रॉप कर देते है"

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें