मलाड में जलाये गये 1.51 लाख दीये, वर्ल्ड रेकार्ड ऑफ़ इंडिया में मिली जगह


SHARE

शरद पूर्णिमा के अवसर पर मालाड के मनोरी में स्थित स्वामी गगनगिरी महाराज के मनोरी आश्रम में लक्ष दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान विश्वशांति और मानव कल्याण के लिए 1लाख 51 हजार दीये जलाए गए। मानव कल्याण और विश्वशांति के लिए लगभग  डेढ़ लाख दीये जलाये गये। इतनी संख्या में दिया जलाने के कार्यक्रम को लिम्का बुक ऑफ रेकार्ड और वर्ल्ड रेकार्ड ऑफ़ इंडिया में भी जगह मिला।

आश्रम के मुख्य व्यस्थापक निषाद अमृतराव पारणकर ने बताया पिछले 17 साल से इस आश्रम में बड़ी ही धूम धाम से दशहरा से लेकर शरद पूर्णिमा (कोजागिरी पूर्णिमा) तक उत्सव मनाया जाता है।

इस उत्सव में भजन कीर्तन सत्यनारायण पूजा, पालखी मिरवणूक, आरोग्य शिविर, छप्पन भोग, नवेदय अपर्ण सोलहा, सामुदायिक गुरुसप्तशती परायण तथा तलवारबाजी, दण्डपट्टा, भाल जैसे खेल का प्रदर्शन किया जाता हैं। जिसमें भाग लेने के लिए बड़ी दूर दूर से लाखों की संख्या में लोग यहां आते हैं।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दें) 


संबंधित विषय